Breaking News

सरपंच के मानदेय से ग्रामीणों को उपलब्ध हो रहा हैं पेयजल

सीतामऊ। पेयजल संकट से जूझ रहे गांव में पेयजल आपूर्ति हेतु ग्राम पंचायत ढंडेडा के सरपंच शंभू सिंह नाथू सिंह सिसोदिया ने प्रेरणास्पद पहल करते हुए सरपंच मानदेय की राशि एकत्र कर पाइप लाइन के माध्यम से जनता से अलावा शादुलगढ़ सारसी पिपलिया में भी सुलभता से ग्रामीणों को पेयजल हो रहा है ग्राम पंचायत द्वारा इसके लिए ग्रामीणों से कोई शुल्क नहीं लिया जा रहा है।

उल्लेखनीय है कि क्षेत्र के कई गांवों में पेयजल संकट विकराल रूप धारण कर चुका है ग्रामीण जल की आपूर्ति हेतु दूर-दूर तक भटक रहे हैं ग्राम पंचायतो के जनप्रतिनिधि शासन की योजनाओं पर आश्रित होकर स्वयं के प्रयासों से कारगर कदम नहीं उठा पा रहे हैं पेयजल आपूर्ति हेतु शासन द्वारा करो रुपए ग्राम पंचायतों को प्रदान किए जाते हैं फिर भी समस्या हर वर्ष यथावत बनी रहती हैं इस मामले में भ्रष्टाचार की जड़ें विफल होती रही है।

अनूठी पहल रंग लाई- ग्राम पंचायत ढंढेडा केशवपुर में ग्रामीणों को भीषण गर्मी के इस दौर में बड़ी सुलभता से पेयजल मिल रहा है तथा किसी प्रकार का कोई शुल्क भी नहीं देना पड़ रहा है जिससे हर्षित ग्रामवासी सरपंच शंभू सिंह सिसोदिया की पहल की सराहना कर रहे हैं इस संदर्भ में श्री सिसोदिया ने बताया कि ग्राम ढंढेड़ा मैं 10 नए वाल लगा कर पूरा गांव में पाइप लाइन बिछाई गई तथा ट्यूबवेल का पानी कुएं में डलवाया जा रहा है जहां से अच्छा क्षेत्र में 30 मिनट तक नल पैदा हो रहा है ग्राम के नई आबादी क्षेत्र में पाइप लाइन डाली गई गांव के 2000 रहवासियों को पर्याप्त पानी मिल रहा है ग्राम ढंढेडा से शादूलगढ की दूरी 3 किलोमीटर किए हैं यहां के ग्रामीण पिछले 15 वर्षों से पेयजल संकट जल रहे थे हमने ढंढेडा से शादुलगढ की पथ 5000 फीट पाइप लाइन बिछाई तथा 7 हॉर्स पावर की विद्युत मोटर से पानी शादूलगढ़ के कुवे तक पहुंचाया एवं पूरा गांव में पाइप लाइन बिछाकर नल प्रदाय किए जा रहा है इससे 500 की आबादी वाले गांव में भरपूर पानी ग्रामीणों को मिल रहा है इस योजना के क्रियान्वयन शासन से कोई मदद नहीं मिली नहीं किसी योजना का आश्रय लिया पाइपलाइन में विद्युत मोटर का खर्चा निजी तौर पर ही वाहन किया गया यह राशि सरपंच मानदेय से एकत्र की गई थी इसी प्रकार ग्राम पंचायत क्षेत्र के ग्राम सारसी पिपलिया में भी पाइप लाइन के माध्यम से ग्रामीणों को सुलभता से पेयजल आपूर्ति हो रही है ट्यूबवेल से पानी कुएं में पहुंचाया जा रहा है जहां से प्रतिदिन पानी सप्लाई हो रहा है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts