Breaking News

सरपंच, सचिव करवा रहें है मशीनों से काम, मजदूर बेरोजगार

सीतामऊ। गाँव के बेरोजगार युवाओं व ग्रामीणो को रोजगार मुहैया करवाने के लिए शासन द्वारा मनरेगा के अंतर्गत मजदूरी देकर रोजगार उपलब्ध करवाया जाता है लेकिन इनके यह दिहाड़ी मजदूरी पर भी सरपंचो सचिवो को रास नही आ रही है जिससे मजदूरों को नजरअंदाज कर मनरेगा का कार्य मशीनों से करवाकर ग्रामीणों व युवाओ के हाथों से काम छिनने आतुर है ऐसा ही एक मामला ग्राम पंचायत महुवि का सामने आया है जहां मनरेगा का कार्य सरपंच व पंचायत के कर्मचारियों के द्वारा मशीनरी से बड़े खुलेआम तरीके से कराया जा रहा है जिससे ग्रामीणों के हाथों की मनरेगा की मजदूरी पर संकट खड़ा होता दिख रहा है सरकारी कार्यो से जो काम रोजगार देने के लिए शासन ने मनरेगा योजना मजदूरों के लिए चालू करी थी लेकिन इस योजना से मजदूरों को मजदूरी तो दूर की बात सरपंच व पंचायत के कर्मचारियों द्वारा अपने निजी फायदे के लिए इनके हक का काम भी इनके हाथो से छीन लेते है अब आश्चर्य तो इस बात का है कि जिस पंचायत के तीनों गाँव मजदूरी के लिए गाँव से बहार जाते है वही की पंचायत को अपना कार्य मशीनो द्वारा कराया जाता है। अब इसमें पंचायत द्वारा किये गए कार्य मे मशीनों की मजदूरी किस प्रकार दी जाती होगी यह सोचने पर मजबूर कर देती है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts