Breaking News

सांसद श्री गुप्ता ने देखी विकास योजनाओं की प्रगति : गांव की चौपाल पर किया संवाद

मंदसौर निप्र। देश की सरकार आज जनहित के कार्यों को प्राथमिकता क्रम पर रखकर गांव के अंतिम व्यक्ति तक की चिंता कर रही है। देश में अंत्योदय की परिकल्पना को साकार करने के लिए प्रधानमंत्री आवास, उज्जवला, मिट्टी परीक्षण, जनधन योजना जैसी अनेक योजनाएं प्रारंभ की गई है। संसदीय क्षैत्र में इन योजनाओं का लाभ अनेक नागरिकों को मिला है। यह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के प्रति नागरिकों द्वारा आभार प्रकट करने का ही द्योतक है कि हितग्राहियों ने अपने आवास का नाम मोदी आवास रखा है। यह बात सांसद सुधीर गुप्ता ने मंगलवार को सीतामउ मंडल के दौरान ग्राम केन्द्र प्रवास एवं चौपाल चर्चा के दौरान कही।

सांसद श्री गुप्ता ने हितग्राहियों के बीच पहुंचकर योजनाओं की प्रगति को देखा एवं लाभान्वित हितग्राहियों से चर्चा भी की। आपने मंदिर/पंचायत चौपाल पर बैठकर आमजन से जनसंवाद किया। सांसद श्री गुप्ता ग्राम ढंढेढा, दलावदा एवं दीपाखेड़ा पहुंचे। इस दौरान आपने ढंढेढा में प्रधानमंत्री आवास की प्रगति पर संतोष व्यक्त किया। आपने उज्जवला योजना के तहत प्राप्त चूल्हे भी देखे और हितग्राहियों से बात की। इस दौरान आपने ग्रामीण जन से चर्चा करते हुए कहा कि आज देश की सरकार अन्तरराष्टी्रय मुद्दों से लेकर स्थानीय विषयों तक पर समान सक्रियता दिखाते हुए जिस त्वरित गति से निर्णय कर रही है, उससे देश में उत्साह का वातावरण बना है। केन्द्र सरकार की योजनाओं एवं मध्यप्रदेश में मुख्यमंत्री श्री शिवराजसिंह चौहान द्वारा जनकल्याणकारी कार्यों के कीर्तिमान से आज गांव-गांव में विकास का स्वपन हकीकत हुआ है और गांवों की तस्वीर बदल रही है।
इस अवसर पर पूर्व विधायक रााधेश्याम पाटीदार, मंडल अध्यक्ष राधेश्याम पाथर, जिला पंचायत सदस्य जीतेन्द्रसिंह कोटड़ामाता, नगर परिषद अध्यक्ष प्रतिनिधि राजेश गिरोठिया, पूर्व मंडल अध्यक्ष विक्रमसिंह महुआ, सांसद प्रतिनिधि राजेश राठौर सहित बड़ी संख्या में मंडल पदाधिकारीगण, पंचायत स्तरीय जनप्रतिनिधि आदि भी साथ रहे।

मटकी पद्धति से फलदार पौधों का रोंपण करें
इस अवसर पर आपने मनरेगा के माध्यम से संचालित मटकी पद्धति से फलदार पौधों के रोंपण की योजना को चौपाल से जनता के बीच पहुंचाते हुए आव्हान किया कि इस योजना में बजट का कोई बंधन नहीं है। गांव में अधिक से अधिक योजना प्रकरण तैयार कर फलदार पौधे रौंपे, ताकि आने वाली पीढि़यों को फल खरीदकर ना खाना पडें। आपने ग्राम दीपाखेड़ा में फलदार पौधों के रोंपण का अवलोकन भी किया। आपने सीतामउ नगर में होटल आदर्श के समीप भी फलदार पौधों का रोंपण किया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts