Breaking News

सावन में धार्मिक आयोजनों की धूम, छप्पन भौग महोत्सव का अनूठा आयोजन भी होगा

आयोजन को लेकर तैयारिया जोरो-शोरो से जारी

मंदसौर। विश्वप्रसिद्ध भूत भावन भगवान श्री पशुपतिनाथ महोदव मंदिर पर प्रतिवर्षानुसार इस वर्ष भी विभिन्न धार्मिक आयोजन प्रातःकाल आरती मण्डल के तत्वाधान में किये  जाऐगें। इसी क्रम में आगामी 11 अगस्त रविवार को विशाल वाहन रैली एवं पशुपतिनाथ महादेव की शाही सवारी 12 अगस्त सोमवार को अंनूठे व भव्य अंदाज मंें निकलेगी। साथ ही 25 अगस्त रविवार को 56 भोग महोत्सव एवं महारूद्राभिषेक, हवन, भजन संध्या का आयोजन होगा। आयोजन को लेकर तैयारींया जोरो-शोरों पर जारी हैं भव्य पैमाने पर प्रचार-प्रसार किया जा रहा है।

प्रातः काल आरती मण्डल के संरक्षक पं. दिलीप शर्मा, प्रवक्ता उमेश परमार ने उक्त जानकारी देते हुए बताया कि, मण्डल द्वारा विगत कई वर्षो से सावन मास मे कई आयोजन अनवृत्त रूप से किए जा रहे हैं, भगवान श्री पशुपतिनाथ महादेव की शाही सवारी का यह 23 वर्ष हैं और शाही सवारी 12 अगस्त को धूमधाम के साथ नगर भ्रमण पर निकलेगी, शाही सवारी को भव्यता प्रदान करने को लेकर जहां एक और प्रतिदिन बैठके आयोजित कर बाहरी पार्टीयों एवं कलाकारों से संपर्क कर उन्हें बुलाने के प्रयास किए जा रहे हैं वहीं शाही सवारी के प्रचार प्रसार को लेकर भी युवा बिग्रेड ने कमान संभाल रखी हैं और बेनरों, पताकाओं से शहर सजाने का कार्य भी आरंभ हो गया है। उन्होने बताया कि, इस वर्ष भी सावन मास के आयोजन की श्रृखलाओं में श्रावण माह के पश्चात आने वाले रविवार 25 अगस्त को छप्प्पन भोग, महारूद्राभिषेक एवं भजन संध्या का आयोजन मंदिर परिसर में किया जावेगा। महोत्सव को लेकर भी मण्डल द्वारा तैयारी प्रारंभ कर दी गई है। शिवभक्तों में अपार उत्साह बना हुआ है। शिवभक्त तैयारीयों में जुटे हुए है।

स्वागत करने वाले भक्त अपना नाम लिखावे
मण्डल अध्यक्ष पं दिलीप शर्मा, प्रवकता उमेश पंरमार ने बताया कि शाही सवारी के प्रचार प्रसार हेतु आगामी 11 अगस्त रविवार को भव्य वाहन रैली पशुपतिनाथ मंदिर प्रागण से प्रातः 10 बजे निकलेगी जो नगर के प्रमुख मार्गो से होते हुए वापस मंदिर परिसर पहुंचेगी। वाहन रैली के माध्यम से वाहन रैली को भव्यता प्रदान करने का आहवान किया जावेगा। वाहन रैली का जो भी धर्मालुजन स्वागत, सत्कार कराना चाहते है वह अपना नाम समिति को लिखावे देवे ताकि वाहन रैली मार्ग में स्वागत हो सके। उमेश परमार

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts