Breaking News

सीएम 30 को करेंगे नए कलेक्टोरेट भवन का लोकार्पण, जुलाई में शिफ्ट होगा ऑफिस

शासन की स्वीकृति पर पीआईयू ने यशनगर से बायपास मार्ग पर करीब 11.32 करोड़ रुपए में नए कलेक्टोरेट भवन का निर्माण कराया है। वैसे तो ठेकेदार ने कार्य मार्च अंत तक काम पूरा कर लिया था। बाद में अधिकारियों ने इसमें बाउंड्रीवाॅल सहित अन्य निर्माण कार्यों को भी शामिल किया। इससे कार्य की समय सीमा जुलाई तक पहुंच गई। अब अधिकारियों ने एक माह पहले ही ताबड़तोड़ निर्माण कार्य खत्म करवा लिया है ताकि सीएम से इसका लोकार्पण कराया जा सके। इसके साथ पूरा ऑफिस जुलाई में नए भवन में शिफ्ट हो जाएगा। इधर, शहर में अन्य कई शासकीय भवन तैयार हैं लेकिन जिम्मेदार महीनों से लोकार्पण तक नहीं करा पा रहे हैं।

यशनगर से बायपास रोड नए कलेक्टोरेट के लिए शासन ने दो पार्ट में डिजाइन तैयार की। पार्ट ए में केवल कलेक्टर व उनके स्टाफ के लिए भवन बनना था एवं पार्ट बी में सहयोगी 13 विभागों के लिए भवन तैयार करना है। पीआईयू ने प्रस्ताव शासन को भेजा लेकिन शासन ने पार्ट ए के लिए ही 13.71 करोड़ रुपए स्वीकृत किए। पीआईयू ने टेंडर बुलाए तो 11.32 करोड़ रुपए में सोमेश भटनागर का टेंडर स्वीकृत हुआ। मार्च अंत में लगभग काम पूरा होने ही वाला था कि अधिकारियों ने 673 मीटर अतिरिक्त बाउंड्रीवाॅल बनाने को कह दिया। शासन द्वारा स्वीकृत डिजाइन में पूरे भवन की विद्युत व्यवस्था के लिए हर फ्लोर पर कक्षों का निर्माण होना है। जो पार्ट बी की डिजाइन में शामिल है। पूरा निर्माण होने के बाद लाइटिंग के समय अधिकारियों को इसकी जानकारी लगी। इसके बाद हर फ्लोर पर 338.40 वर्ग मीटर अतिरिक्त निर्माण कराया जा रहा है। इससे कार्य की समय सीमा जून अंत तक बढ़ाई लेकिन अब सीएम के आने के चलते अधिकारियों द्वारा प्राथमिकता से भवन का कार्य पूरा कराया जा रहा है। 30 मई को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान नए कलेक्टोरेट भवन का लोकार्पण करेंगे। सीएम की सभा भी परिसर के पास मैदान में ही होगी।

जेसीबी के माध्यम से समतलीकरण किया जा रहा है

नए कलेक्टोरेट भवन के पास सीएम की सभा के लिए तैयारियां शुरू हो गई हैं।

जिले का पहला भूकंपरोधी प्रशासनिक भवन है

अनुबंध के अनुसार नए कलेक्टोरेट भवन में ग्राउंड फ्लोर पर 2410 वर्गमीटर, प्रथम तल पर 2385 एवं द्वितीय तल पर 2470 वर्गमीटर का निर्माण किया है। जो कुल 7245 वर्गमीटर है। यह जिले का पहला भूकंपरोधी प्रशासनिक भवन है। विद्युतीकरण के लिए कक्ष नहीं होने से अब पीआईयू हर फ्लोर पर 338.40 वर्ग मीटर का निर्माण करा रही है। परिसर को कवर करने के लिए 1261 मीटर की बाउंड्रीवाॅल बनाई जा रही है।

इधर, आरटीओ भवन भी तैयार लेकिन नहीं हो रहा लोकार्पण

सीएम के आने की वजह से नया कलेक्टोरेट भवन का लोकार्पण तो हो जाएगा वहीं करीब चार माह से तैयार नए आरटीओ भवन का अब तक लोकार्पण नहीं हो पाया है। सूत्रों के अनुसार सीएम भी 10 करोड़ से अधिक के विकास कार्यों का लोकार्पण करेंगे। ऐसे में अभी भी परिवहन विभाग कार्यालय का लोकार्पण होने की कोई उम्मीद नहीं है।

सीएम की सभा भी नए कलेक्टोरेट भवन के पास ही होगी। इसके लिए पुलिस प्रशासन सुरक्षा व्यवस्था की तैयारी कर रहा तो नपा व लोक निर्माण विभाग सभास्थल को एक जैसा करने की तैयारी में लगे हैं। यहां जेसीबी के माध्यम से समतलीकरण किया जा रहा है।

लोकार्पण के लिए रुकना पड़ता है

सीएम का दौरा बन ही रहा है तो इसका लोकार्पण भी हो जाएगा, नहीं तो बाद में लोकार्पण के लिए रुकना पड़ता। परिवहन कार्यालय लोकार्पण के लिए भी जनप्रतिनिधियों से चर्चा करेंगे। ओपी श्रीवास्तव, कलेक्टर।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts