Breaking News

सुवासरा उपचुनाव: त्रिकोणीय हो सकता है मुकाबला – भाजपा के बैरागी डाल सकते है मंत्री डंग को संकट में

मंदसौर। मध्यप्रदेश में उपचुनाव की तारीखों का ऐलान हो चुका है। मंदसौर जिले की सुवासरा विधानसभा के लिए भी उपचुनाव होना है। दोनो ही प्रमुख राजनीतिक पार्टियों भाजपा और कांग्रेस ने अपने – अपने प्रत्याशी घोषित कर दिये है। चुनाव प्रचार – प्रसार प्रारंभ हो चुका है और आदर्श आचार संहिता भी लागू हो चुकी है। लेकिन अभी तक लग रहा है कि मुख्य मुकाबला कांग्रेस से भाजपा में आयें हरदीपसिंह डंग और कांग्रेस के राकेश पाटीदार के बीच में है। लेकिन यदि भाजपा के युवा नेता पं अंशुल बैरागी सुवासरा से निर्देलीय चुनाव लड़ते है तो ये मंत्री श्री डंग के लिए एक बड़ा खतरा बन सकते है। वैसे ही भाजपा के प्रत्याशी मंत्री श्री डंग को भितरघात का सामना करना पड़ रहा है और ऐसे में यदि भाजपा के युवा नेता अंशुल बैरागी चुनाव में उतर जाते है तो वे जिते या न जिते लेकिन भाजपा के लिए मुश्किले जरूर बढ़ा देंगे हालांकि अभी तक पं अंशुल बैरागी का चुनाव लड़ना तय नहीं है लेकिन वे जिस प्रकार से सोशल मीडिया पर सुवासरा विधानसभा को लेकर सक्रिय नजर आ रहे है उम्मीद जताई जा रही है कि वे निर्दलीय चुनाव लड़ सकते है।

चमको है तो ठीक, नहीं तो डंग पड जायेगे मुसिबत में

अंशुल बैरागी राजनीतिक स्टंट कर पार्टी को आगामी 2023 विधानसभा चुनाव को लेकर चमकों दे रहे है तो ठीक लेकिन यदि वे सही में चुनावी समर में उतर जाते है तो मंत्री डंग के लिए मुश्किलें बढ़ जायेंगी। क्योंकि श्री बैरागी चाहते होगे कि मुख्यमंत्री या भाजपा संगठन का कोई बड़ा पदाधिकारी उन्हें मनाये ताकि प्रदेश की राजनीति मेें उनका कद बडा हो सके। वैसे श्री बैरागी वर्तमान में जिला पंचायत के सदस्य और भाजपा के अनुसांगिक संगठन मजदूर ट्रेड यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष भी है। विधानसभा 2018 चुनावों में श्री बैरागी ने गरोठ विधानसभा से दावेदारी पेश की थी।

कोविड नियमों को तोड़कर फिर मैदान में मंत्री डंग

20 सितम्बर को मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान की सभा के एक दिन बाद ही कोरोना पाॅजिटिव पाये गये मंत्री डंग दस दिनों में ही फिर से बाजार में आ गये है और अपने चुनावी प्रचार में लग गये है। उन्होने एक फिर कोरोना के नियमों को खुलेआम तोड़ा है। कोविड के नियमों के अनुसार कोविड पाॅजिटिव मरीज को कम से कम 17 दिनों के लिए आईशोलेट होना पड़ता है लेकिन मंत्री श्री डंग 10 दिनों में ही वापस चुनावी प्रचार – प्रसार में आ गये है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts