Breaking News

सुवासरा में दो दिवसीय खेल चेतना मेले का भव्य शुभारंभ 

हमारे अंदर खेलों से प्रतिस्पर्धा का भाव जागृत होता है- श्री धाकड

सुवासरा निप्र। चैतन्य  काश्यप फाउण्डेशन एवं क्रिडा भारती के संयुक्त तत्वाधान में एवं खेल चेतना मेला समिति सुवासरा द्वारा दो दिवसीय खेल चेतना मेले का भव्य आयोजन सुवासरा नगर में भव्य रैली के साथ प्रारंभ किया गया। अन्तरविद्यालयीन खेल प्रतिस्पर्धा का शुभारंभ क्षेत्रिय सांसद सुधीर गुप्ता के मुख्य आतिथ्य में जिला भाजपा अध्यक्ष देवीलाल धाकड, पूर्व विधायक राधेश्याम पाटिदार, नगरपंचायत अध्यक्ष मांगीलाल सूर्यवंशी के विशेष आतिथ्य में किया गया। इस आयोजन में भाग लेने वाले खिलाडीयो को भारतीय खेलो से जोडने के लिए 5 खेलो को समावेश किया गया है। अतिथियों ने खेल चेतना मेले का ध्वजारोहरण कर खेल मेले का शुभारंभ किया। जिला भाजपा अध्यक्ष देवीलाल धाकड ने उपस्थित खिलाडियेां को संबोधित करते हुए कहा कि खेल चेतना मेला के भव्य आयोजन कई बरसों से चेतन्य काश्यप फाउंडेशन द्वारा किए जा रहे हैं। इसका लाभ खिलाडियों को मिल रहा है। हमारे अंदर जब तक प्रतिस्पर्धा का भाव जाग्रत नहीं हो ऐसे आयोजनों का हम लाभ नही ले सकते।

पूर्व विधायक राधेश्याम पाटीदार ने कहा कि चेतन्य काश्यप फाउंडेशन द्वारा खेल मेले का आयोजन कर इस क्षेत्र के प्रतिभावान खिलाडियों को खेलों से जोडने का जो अवसर प्रदान किया है। इस अवसर पर नगर पंचायत अध्यक्ष मदनलाल सूर्यवंशी ,भाजपा मंडल अध्यक्ष गोर्वधनसिंह आंजना, नगर पंचायत उपाध्यक्ष सीमा धनोतिया, क्रिडा भारती के खेल समन्वयक जिला भाजपा उपाध्यक्ष विनोद शर्मा समिति अध्यक्ष विरेंद्र जैन इस अवसर पर मंचासीन थे।

कार्यक्रम के आरंभ में अतिथियों ने मां भारती के चित्र पर माल्यार्पण कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। रैली का अभिवादन करते हुए खेल मेले का शुभारंभ किया। स्वागत भाषण समिति अध्यक्ष विरेंद्र जैन ने दिया। अतिथियों का पुष्पहारों से स्वागत खेल चेतना मेला समिति सुवासरा के अध्यक्ष विरेन्द्र जैन उपाध्यक्ष घनश्याम धनोतिया, मगनलाल सूर्यवंशी, नदंकिशोर धनोतिया, दिनेश गुप्ता, सचिव विनोद पाटीदार, सहसचिव सुनील जैन, विजय लोहार, कोषाध्यक्ष वासुदेव मुन्या, प्रचार सचिव मनीष जैन, सहप्रचार सचिव राजेन्द्र धनोतिया, कार्या.प्रभारी हंसपाल सिसोदिया, सदस्य-गोरर्धनसिंह पटेल, कैलाश गुप्ता, मोहन पाटीदार, मोहन कप्तान, अशोक धनोतिया, रामगोपाल चौधरी आदि ने किया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts