Breaking News

सैक्स रैकेट:12साल की मासूमों से करवाया जा रहा था जिस्मफिरोशी का धंधा, पुलिस की रेड में 12 लडकियां बरामद

नीमच। बांछडा समुदाय के डेरों को समाज की मुख्य धारा से जोडने के लिए एसपी तुषाकांत विद्यार्थी ने एक अच्छी पहल की है। शिक्षा से जोडा जा रहा है वहीं बैरोजगारों को ट्रेनिंग दी जा रही है। वहीं दूसरी तरफ देह व्यापार किए जाने पर पुलिस का धरपकड अभियान भी जारी है। बीती रात को जेतपुरा में दबिश दी गई। पुलिस की रेड में करीब 12 लडकिया पकडी है। इसमें से 3 नाबालिग है। बताया जा रहा है कि 12 साल की बच्चियों को जिस्मफिरोशी का धंधा करने के लिए उनके माता—पिता धकेल देते है।
एनजीओ संचालक आकाश चौहान दोनों बिंदुओ पर काम कर रहे इक तरह युवाओ के लिए रोजगार के लिए जागरूकता वह शिक्षा के स्तर को आगे बढ़ाने का काम भी कर रहे क्योकि इस समुदाय में छोटी बच्चीयों के स्कूल भेजने के बजाय माप बाप उन्हें देहव्यापार के दलदल में डाल देते है तो देहव्यापार के कार्रवाई पर लगातार की जा रही है जिससे जो नाबालिक लड़कियों को देहव्यापार में अपने माता पिता डालते है तो कम से कम अब कार्यवाहियों के डर से नही डाल रहे है जिससे लड़कियां स्कूल लगातार जाने लगी है आकाश चौहान ने बताया है अगर लड़की 12 कक्षा तक पड़ लिख जाती है तो वह खुद देहव्यापार के दलदल नही जाना पसंद करेगी इसी लिए तो माता पिता इन नाबालिक लड़कियों 12 कक्षा पढ़ाने की बजाए लगभग 12 वर्ष की उम्र में ही देहव्यापार के दलदल में डाल देते है क्योंकि वह लड़की नाबालिग होती है उसे कोई समझ नही रहती है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts