Breaking News

स्कूल प्रशासन, जिला प्रशासन, परिवहन विभाग, ऑटो रिक्शा युनियन और पालकगणों की बैठक कर उचित निर्णय लिया जायें – श्री कुमावत

मामला – बच्चों की सुरक्षा का

मंदसौर। इंदौर में हुई स्कूली बस दुर्घटना से पूरा प्रदेश स्तब्ध है हर तरफ यह प्रयास किये जा रहे है कि ऐसी दुर्घटना दुबारा न हो सकें। मंदसौर नगर में भी कई स्कूल है और कई वाहन बच्चों को घर से स्कूल तक पहुॅचाने का कार्य करते है। जब से इंदौर की दुर्घटना हुई तब से स्कूल बस, ऑटो रिक्शा, मैजिक वाहन वालों को निशाना बनाया जा रहा है। लेकिन इसके लिये संयुक्त रूप से मिलकर प्रयास करने की आवश्यकता है।

उक्त बात कहते हुए युवा इंटक के जिलाध्यक्ष सुरेन्द्र कुमावत ने कहा कि सिर्फ ऑटो रिक्शा, मैजिक चालकों पूरी तरह से दोषी मानना सही नहीं होगा। श्री कुमावत ने कहा कि बच्चों की सुरक्षा के लिये निजी स्कूल प्रशासन, जिला प्रशासन, ऑटो रिक्शा, मैजिक युनियन, परिवहन विभाग और पालकों की एक संयुक्त कमेटी बनाकर उसकी बैठक कर ऐसा हल निकाला जाना चाहिए जिससे बच्चे सुरक्षित भी रहें ऑटो वालों का रोजगार भी खत्म न हो और पालकों को भी अधिक किराया भार न देना पड़ें।

श्री कुमावत ने कहा कि जैसा कहा जा रहा है कि एक ऑटो में 5 से ज्यादा बच्चें नहीं बैठाये जायें जिससे निश्चित रूप से ऑटो वाले किराया बढ़ायेेगे जिससे पालकों पर अतिरिक्त भार आयेगा या फिर पालक बच्चे को उसे ऑटो में स्कूल भेजेगे ही नहीं जिससे ऑटो वाले का रोजगार खत्म होगा। श्री कुमावत ने कहा कि सभी की एक संयुक्त बैठक की जायें जिसमें सर्वप्रथम बच्चों की सुरक्षा को ध्यान में रखते हुए किराया दर व बच्चों की संख्या को सभी की सहमति से तय किया जाये। श्री कुमावत ने कहा कि इंदौर मंे जो दुर्घटना हुई वो अत्यंत दुखद थी ऐसी घटना की कही पर भी पुनरावृत्ति न हो इसके लिये हमको मिलकर जल्द से जल्द समाधान निकालना चाहिए।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts