Breaking News

स्वच्छता अभियान मे करोडो खर्च और लेकिन फिर भर शिवना मैली – श्री कुमावत

मंदसौर। देश के साथ नगर में चल रहें स्वच्छता अभियान में जमकर पैसा खर्च किया जा रहा है। जिन कामों का स्वच्छता से कोई लेना देना नहीं है उसमें भी जमकर पैसा खर्च किया जा रहा है। तो फिर शिवना शुद्धीकरण में इतना ठिलाई क्यों .?

उक्त बात कांग्रेस नेता सुरेन्द्र कुमावत ने कहते हुए प्रेस नोट के माध्यम से बताया कि आज शिवना की स्थिति अत्यंत दुखद है। शिवना नदी को प्रत्येक मंदसौरवासी मॉ का दर्जा देते है और शिवना मयया ही पूरे शहर की पेयजल आपूर्ति को पूरा करती है। उसके प्रति जिम्मेदार उदासीन है। श्री कुमावत ने कहा कि शहर के लगभग सभी गंदे पानी के नाले कही न कंही किसी न किसी छोर पर शिवना में जाकर मिल रहे है। इन नालों के संबंध में आज तक द्वारा कोई ठोस कदम नहीं उठाया गया।

यहॉ भी खर्च की बात की जायें तो शिवना शुद्धीकरण के नाम पर लाखों रूपये अभी तक खर्च कर दिये है। लेकिन गलत नीतियों के कारण शिवना का जल शुद्ध नहीं हो पाया जो सबके सामने है। श्री कुमावत ने कहा कि सारे शहर के गंदे नालों को शिवना नदी में मिलने से पहले गंदे नालों का पानी एक स्थान पर एकत्रित कर प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के निर्देशानुसार एक कारगार योजना बनाकर शासन को फिल्टर प्लांट लगाकर गंदे पानी को साफ करने के बाद ही शिवना नदी में मिलने देना चाहिए। श्री कुमावत ने कहा पानी को शुद्ध करने का स्थाई हल निकालना चाहिए और शुद्ध जल हो जायेगा तो जलकुम्भी अपने आप हट जायेगी और जलकुम्भी का भी यही स्थाई निराकरण होगा।

श्री कुमावत ने आगे कहा कि भगवान श्री पशुपतिनाथ मंदिर के तट पर भी शिवना अत्यंत गंदी व मैली यहॉ तो कम से कम मंदिर प्रबंध समिति और नगर पालिका को एक होकर शिवना के घाटों को साफ करने का स्थाई हल ढूंढेगा चाहिए।

 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts