Breaking News

स्वच्छता ब्रांड एम्बेसेडर पुखराज दशौरा ने खोली नगरपालिका के कांस्य पदक की पोल : कचरे के ढेर पर बैठकर दिया धरना

Story Highlights

  • 10 दिनों से पड़ा था कचरे का ढेर

मन्दसौर। मन्दसौर के सक्रिय स्वच्छता ब्रांड एम्बेसेडर पुखराज दशौहरा व वार्ड नम्बर 39 की पार्षद विद्या दशौरा अपने ही वार्ड में पड़े कचरे के ढेर पर दोपहर करीब दोपहर 12 बजे से बैठ कर धरना दिया। श्री दशोरा का कहना था कि रविवार को सुबह मैंने नगरपालिका अध्यक्ष को फोन लगाकर सुचना कर दी थी कि वार्ड में कचरे का ढेर लगा हुआ है जिसे सांय 3 बजे तक उठवा लिया जाए नहीं तो में हमें धरना प्रदर्शन करना पड़ेगा। श्री दशौरा ने बताया कि दोपहर लगभग 11ः45 बजे नगरपालिका का ड्राइवर टेªक्टर सहित अकेले आ गया जबकि कचरा ट्राले में भरने के लिए कोई भी कर्मचारी साथ मे नहीं आया। यह देख श्री दशौरा आक्रोशित हो गये और कहने लगे कि कचरा का हम दोनों पति-पत्नि भरेंगे। कुछ देर इंतजार करने के बाद भी कोई कर्मचारी या मजदूर कचरा भरने के लिये नहीं आया तो मजबूरन दशौरा दम्पत्ति को अपने ही वार्ड में अपनी ही नगर पालिका की व्यवस्थाओं के खिलाफ धरने पर बैठना पडा।

जागरूक स्वच्छता ब्राण्ड एम्बेसेडर श्री दशौरा के वार्ड में ये हाल देखने को मिले है तो अंदाजा लगाया जा सकता है कि अन्य वार्डो के क्या होगे ?
दशौरा दम्पत्ति लगभग ढाई घंटे तक धरने पर बैठे रहे और मांग कि गई कि जब तक नपा अध्यक्ष मौंके पर नहीं आयेगे तब तक धरना जारी रहेगा। लेकिन नपाध्यक्ष श्री बंधवार मंदसौर में नहीं होने के कारण श्री दशौरा से फोन पर चर्चा की और धरना समाप्त करने का आग्रह किया। मौके पर नपा के स्वास्थ्य सचिव के जी उपाध्याय भी पहुॅचे और उन्होने ने भी श्री दशौरा को मनाने की कोशिश की। इस मौके पर वार्डवासियोें ने दशौरा दम्पत्ति का खूब साथ दिया और गर्मी के कारण परेशानी झेल रही दशौरा दम्पत्ति के लिये छांव के लिये छाते की व्यवस्था की।

दो दिन पूर्व ही मिला स्वच्छता के क्षेत्र में कांस्य
नपा को दो दिन पूर्व ही मुख्यमंत्री के हाथाों स्वच्छता सर्वेक्षण में देश में 74 वॉ व प्रदेश में 5 वॉ स्थान प्राप्त करने पर कांस्य पदक मिला था। लेकिन आज भाजपा के ही पार्षद द्वारा कचरे की समस्या को लेकर अपनी पार्टी के नगर पालिका के विरूद्ध धरना प्रदर्शन करना पड़ा। इससे स्पष्ट होता है कि नगर पालिका में स्वच्छता को लेकर गंभ्ीार है। जबकि आज बदलते मौसम में गंदगी व मच्छरों के कारण गई लाईलाज गंभीर बिमारियों से नगरवासी बचने का प्रयास कर रहे है। ऐसे में स्वच्छता के क्षेत्र में मंदसौर को नपा कांस्य पदक मिलने पर प्रश्न चिन्ह् तो लगता ही है और नपा के जिम्मेदार सिर्फ कांस्य पदक की वाहवाही लूटने में लगे लेकिन धरातल पर वास्तिवकता बिल्कुल उलट है।

सफाई कर्मचारियों की संख्या हुई कम
श्री दशौरा ने बताया कि पहले सफाई कर्मचारियों की संख्या उनके वार्ड के लिये 19 थी जो अब 14 ही रह गई है। श्री दशौरा ने कहा कि वार्ड में जो वीआईपी लोग उनके यहॉ पहले सफाई करवाना पड़ती है तो फिर दूसरों का क्या होगा ?

श्री दशौरा ने कहा कि कचरा भरने के लिये ट्रेक्टर भी प्रतिदिन आता है और कहा जाता है तीन से चार ट्रॉली कचरा प्रतिदिन भरा जाता है लेकिन यह कचरे का ढेर दस दिनों से पड़ा हुआ है इसे क्यों भर कर नहीं ले जाया गया इसकी भी जॉच करवाई जायेगी। यहॉ यह उल्लेखनीय है कि कचरा भरने के नाम पर बड़े पैमाने पर नपा से राशि आहरण की जा रही है।

 

पुखराज दशोहर वार्ड no 39 में कचरे के ढेर

Posted by Hello Mandsaur.Com on Sunday, September 10, 2017

 

पुखराज दशोहर वार्ड no 39 में कचरे के ढेर पर बेठे : गर्मी के का…

पुखराज दशोहर वार्ड no 39 में कचरे के ढेर पर बेठे : गर्मी के कारण वार्ड वासियो ने निकली छतरी

Posted by Hello Mandsaur.Com on Sunday, September 10, 2017

 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts