Breaking News

हत्या के प्रयास में आरोपी को चार वर्ष का सश्रम कारावास एवं दो हजार रूपये अर्थदण्ड

मन्दसौर निप्र। पुलिस थाना व्हाय.डी.नगर जिला मन्दसौर के एक प्रकरण में अपर सत्र न्यायाधश श्री आर.एल.यादव द्वारा आरोपी गणपत पिता भगवान कुमावत निवासी ग्राम सेजपुरिया को धारा 307 भा.द.वि. के अपराध में चार वर्ष का सश्रम कारावास एवं दो हजार रूपये के अर्थदण्ड से दण्डित किये जाने का आदेश पारित किया है।

लोक अभियोजक श्री प्रफुल्ल यजुर्वेदी ने जानकारी देते हुए बताया कि दिनांक 01.09.2015 को गोपाल पिता भेरूलाल कुमावत ने जिला चिकित्सालय मन्दसौर के सर्जिकल वार्ड में पुलिस को रिपोर्ट लिखवाई कि उसने आरोपी गणपत को 40,000ध्- रूपये उधार दिये थे, कई बार गणपत से रूपये माँगे, टालमटोल करता रहा व बाद में कहने लगा कि तू मेरी औरत से गलत सम्बन्ध रखता है, इसकारण रंजिशवश सुबह साढ़े आठ से नौ के बीच वह गोविन्दसिंह की मोटर वाईडिंग की दुकान पर बैठा था, तो वहाँ आकर माँ-बहिन की गालियाँ दी, उसको गाली देने से मना करने पर आरोपी द्वारा गोपाल के सिर पर दाहिनी तरफ हथौड़ी से तीन बार मारा। फरियादी गोपाल को जिला चिकित्सालय के चिकित्सकों द्वारा प्रारम्भिक उपचार कर उदयपुर रेफर किया गया था। उदयपुर के चिकित्सकों द्वारा फरियादी गोपाल का लम्बे समय तक ईलाज किया व ऑपरेशन किया।

प्रकरण में अभियोजन द्वारा उदयपुर के दो चिकित्सकों सहित पन्द्रह साक्षियों के कथन कराये। माननीय न्यायालय द्वारा आहत गोपाल तथा चिकित्सक साक्षीगण की साक्ष्य के आधार पर अभियोजन के प्रकरण को प्रमाणित मानकर आरोपी गणपत को हत्या के प्रयास में तीन वर्ष का सश्रम कारावास व दो हजार रूपये के अर्थदण्ड से दण्डित किया।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts