Breaking News

हथियारों से लैस एक दर्जन नकाबपोश बदमाशों ने खेत पर निगरानी कर रहे किसान पिता-पुत्र के हाथ-पैर बांधकर जमकर की मारपीट, ले गए अफीम डोडे

मंदसौर निप्र। नगर के समीप स्थित पिपल्यामंडी के गांव बरखेड़ापंथ में हथियारों से लैस करीब 1 दर्जन नकाबपोश बदमाशों ने खेत पर डोडो की निगरानी कर रहे पिता-पुत्र को रस्सी से बांधा, जमकर मारपीट के बाद खेत में लगे डोडे तोड़कर ले गए। दोनों ने जोर-जोर से आवाज भी लगाई, लेकिन उन्हें बचाने कोई नही आया, घटना के बाद किसान दहशत में है। इधर घटना के बाद दोपहर तक मल्हारगढ़ पुलिस नींद निकालती रही, बदमाशों को ढूढ़ना तो दूर की बात प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र मल्हारगढ़ में भर्ती पिता-पुत्रों से बयान लेने भी पुलिस नही पहुंची।
पुलिस द्वारा कोई सुनवाई नही करने पर पीडित परिवार की सूचना पर कांग्रेस नेता श्यामलाल जोकचन्द्र सहित कांग्रेसजन पहुंचे व एसडीओपी राधेश्यामल सोलंकी से मामले को लेकर चर्चा की। जानकारी के अनुसार सोमवार-मंगलवार की रात्रि डेढ़ बजे गांव बरखेड़ापंथ में फोरलेन के पास स्थित रामलाल पिता रतनलाल पाटीदार के खेत पर लगे डोडे तोड़ने आए हथियारबंद बदमाशों ने पहले खेत के एक साइड मचान पर बैठकर निगरानी कर रहे पुत्र सुखदयाल के पीछे से लट्ठ से वार कर नीचे गिरा दिया बाद में जमकर मारपीट की, सुखदयाल के शर्ट की आस्तीन काटकर दोनों हाथ रस्सी से बांध दिये, सुखदयाल जोर से चिल्लाया तो उसके गर्दन पर छुरा रख दिया, पुत्र के चिल्लाने की आवाज सुन खेत के दूसरी ओर सो रहे पिता रामलाल पाटीदार (75) जाग गए वो भी जोर-जोर से चिल्लाने लगे, तो बदमाशों ने उन्हें भी पकड़ लिया, मारपीट की व हाथ बांध दिये। दोनों के हाथ बांधकर एक ही जगह जमीन पर लैटाकर बिस्तर डालकर 4 बदमाश उपर बैठ गए व गर्दन पर छुरा लगाए रखा, पिता-पुत्र ने बताया बदमाशों ने धमकी दी कि अगर चिल्लाए तो जान से मार देंगे। इसके बाद करीब 8 बदमाश खेत मे घुसे और डोडे तोड़ने लगे। करीब 1 घंटे तक बदमाशों ने खेत पर डोडे तोड़े और भाग निकले। कुछ देर बाद खेत का पड़ोसी उदयराम आया दोनों के हाथों पर बंधी रस्सी खोली, किसान के पौत्र दशरथ ने 100 डायल पर सूचना दी। पिपलिया व मल्हारगढ़ की डायल 100 पहुंची, एबूलेंस से दोनों को मल्हारगढ़ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भर्ती कराया।
मारपीट के बाद नकाबपोश बदमाशों ने बाइक को बुरी तरह क्षतिग्रस्त कर दिया, पहिये में चाकू घोंपे, पेट्रोल नली व प्लग भी निकाल दिया, इसके अलावा निगरानी के लिए की गई बिजली व्यवस्था के लिए आ रहे तार भी काट दिये और मोबाइल भी साथ ले गए, यह सब करने का उद्देश्य बदमाशों रहा होगा कि तत्काल पुलिस को सूचित नही कर सके।

1 माह पूर्व ही दे दिया था उखड़वाने का आवेदन
किसान ने कुल 20 आरी जगह में अफीम फसल बोई थी, 12 आरी में चीरा लगा दिया था, बाकी 8 आरी की फसल उखड़वाने का आवेदन नारकोटिक्स विभाग को 10 मार्च को दे दिया था, लेकिन 1 माह बीतने के बाद भी नारकोटिक्स विभाग की उदासीनता से अफीम फसल को नही उखड़वाया, किसान ने इस दौरान करीब 5 बार नारकोटिक्स कार्यालय के चक्कर लगाकर अधिकारियों से अफीम फसल उखड़वाने का अनुरोध किया, लेकिन किसान जान हथेली पर लेकर पिछले 1 माह से खेत पर निगरानी करता रहा और नारकोटिक्स अधिकारी कान में तेल डालकर सोए रहे। जबकि 11 अप्रेल को ही बरखेड़ापंथ गांव के किसानों अफीम तौल भी निर्धारित है।

ढ़ाबों से संचालित हो रही अवैध गतिविधियां
किसान रामलाल का खेत ठीक फोरलेन सड़क के पास है, खेत के आस-पास करीब 5 ढ़ाबे भी संचालित है, जो रातभर चालू रहते है, करीब डेढ़ घंटे तक हथियारों से लैस बदमाशों ने वारदात को अंजाम दिया, किसान मदद के लिए चिल्लाए भी, लेकिन इन ढ़ाबों पर कार्यरत लोग भी नही आए और न ही पुलिस को सूचित किया। जानकार सूत्रों के अनुसार फोरलेन पर जगह-जगह कुकरमुत्तों की तरह ढ़ाबे खुल गए है, जहां भोजन तो मात्र दिखावा है, रात्रि में यहां से अवैध गतिविधियां संचालित होती है, कई ढ़ाबे तो अपराधियों की शरणस्थली बने हुए है।

मल्हारगढ़ पुलिस की उदासीनता
रात्रि में किसानों के हाथ बांधकर डोडे लूटने के बाद डायल 100 तो पहुंच गई और दोनों पिता-पुत्र को मल्हारगढ़ प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र भी भर्ती करा दिया, लेकिन मल्हारगढ़ पुलिस की उदासीनता व अमानवीयता भी देखने को मिली, बदमाशों को ढ़ूढ़ना तो दूर की बात दोपहर 12 बजे तक पुलिस न तो मौके पहुंची और न ही अस्पताल में भर्ती घायलों के बयान लिये। जबकि कृषक रामलाल के पौत्र दशरथ ने सुबह मल्हारगढ़ पुलिस थाने में लिखित में भी आवेदन दे दिया था।

करीब 80 किलो डोडे व 80 किलो पोस्त ले गए
पीड़ित किसान ने बताया बदमाश खेत से करीब 80 किलो डोडे ले गए। पिता-पुत्र के अनुसार सभी बदमाश युवक थे, मंूह पर नकाब था, पेंट-शर्ट पहने हुए थे। संभावना है कि वाहन से आए होंगे जिसे सड़क किनारे खड़ा किया होगा व वारदात को अंजाम देने के बाद वाहन से भाग निकले।
टीआई ने कहा शामगढ़ ड्यूटी पर हूँ , एसपी बोले मुझे जानकारी नही
घटना को लेकर मल्हारगढ़ टीआई केके शर्मा से चर्चा की तो उनका कहना था शामगढ़ में ड्यूटी पर हूँ , एएसआई संदीप शर्मा मामले की जांच कर रहे है, इधर एसपी ओपी त्रिपाटी का कहना था, क्या घटना हुई मुझे जानकारी नही है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts