Breaking News

हिन्दू कलेंडर के अनुसार हुआ नव वर्ष का आगमन : विभिन्न कार्यक्रम हुए आयोजित

घटस्थापना के साथ शुरु हुआ शक्ति की भक्ति का महापर्व

मंदसौर । शहर सहित जिले में शनिवार से चैत्र नवरात्रिकी उत्सवी माहौल में शुरुआत हुई। शुभ मुर्हत में घटस्थापना के साथ भक्ति का दौर शुरु हुआ। शहर सहित जिलेभर में प्रसिद्ध देवी मंदिरों पर सुबह से भक्तों का पहुंचने का दौर शुरु हुआ। अब नो दिनों तक आराधना का दौर चलेगा। शक्ति की भक्ति में मातारानी के भक्त रमें। कही मेला लगा तो कही चुनर यात्रा निकली तो कही पर अखंड ज्योत तो कही यज्ञ का आयोजन हुआ। मंदिरों से लेकर पांडालों में विराजी माता के दर पर जयकारों की गुंंज रही।दिनभर अलग-अलग जगहों पर धार्मिक आयोजन का दौर चलता रहा।

श्रृंगार के साथ शुरु हुआ भक्ति का दौर
विभिन्न माता मंदिरों में माता का आकर्षक श्रृंगार किया गया। यहां शुभ मुहूर्र्त में घट स्थापना भी की गई। यहां धर्मालुजनों ने माता के दर्शन कर सुख-समृद्धि की कामना की। भानपुरा क्षेत्र के दूधाखेड़ी माताजी मंदिर, सीतामऊ क्षेत्र के मोड़ी माताजी मंदिर व शामगढ़ की मां महिषासुर मर्दिनी माता मंदिरों में श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ी। सभी मंदिरों में माता का विशेष श्रृंगार कर महाआरती की गई। मंदिरों पर माता का श्रृंगार कर भक्ति का दौर शुरु हुआ।

देवी के दर पर जुटी आस्था, हुए आयोजन, लगे जयकारें
सुबह से ही शहर सहित जिले में स्थिति माता के मंदिरों पर नवरात्रि को लेकर उत्साह व भक्ति का माहौल था। ढोल-ढमाकों के साथ गुंजते गीतों पर जयकारों की धुन गुंजती रही। हर और भक्तिमय माहौल था। हर और देवी के दर पर आस्था के साथ श्रद्धालु जुटे और आयोजनों का दौर शुरु हुआ। अलग-अलग धार्मिक अनुष्ठान हुए। नो दिनों तक कही मेला तो कही धार्मिक आयोजनों के साथ आराधना के इस पर्व में भक्ति का दौर जारी रहेगा।मंदिरों पर लगे मेले में हजारों की संख्या में लोगों का गर्मीमें भी पहुंचने का सिलसिला शुरु हो गया है तो मंदिरों पर भी भक्त पहुंचकर पूजा-अर्चना के साथ भक्ति कर रहे है।

आयोलाल-झूलेलाल और सतनाम् साक्षी से गूंजा शहर

सिन्धी समाज के आराध्य देव भगवान झूलेलाल का जन्मोत्सव चेटीचण्ड विक्रम संवत 2076 एवं प्यारे सतगुरू स्वामी टेऊँराम महाराज के साप्ताहिक अवतार दिवस शनिवार को श्री प्रेमप्रकाश आश्रम में मनाया गया।

सेवामण्डली के अध्यक्ष पुरूषोत्तम शिवानी ने बताया कि भगवान झूलेलाल की झूले की झांकी, दरबार की सजावट व भगवान लक्ष्मीनारायण, सतगुरू टेऊँराम महाराज, सतगुरू सर्वानन्द महाराज, सतगुरू शान्तिप्रकाश महाराज, सतगुरू हरिदासराम महाराज की प्रतिमाओं को सुन्दर पोषाक व सोलह श्रृंगार किया गया।

वाहन रैली का स्वागत

उन्होंने बताया कि पूज्य सिन्धी जनरल पंचायत, श्री वरूणदेव मंदिर संचालन समिति व युवा संगठन के तत्वाधान में वाहन रैली ढोल ढमाकों के साथ जैसे ही प्रेमप्रकाश आश्रम में आगमन हुआ वैसे ही उपस्थित जनसमूह ने मंत्रमुग्ध हो गया तथा वातावरण झूलेलाल मय हो गया। रैली का पुष्पहारों से स्वागत किया गया। सभी ने माथा टेककर अपने जीवन में सुख, समृद्धि व आपस में भाईचारे व प्रेम की कामनाओं की दुआं मांगी। श्री प्रेमप्रकाश महिला मण्डली की अध्यक्षता पुष्पा लक्ष्मणदास पमनानी की उपस्थिति में महिला मण्डली ने भगवान झूलेलाल, दमा-दम मस्त कलन्दर, जियेमुहजी सिन्ध के भजन गाए। भजनों पर समाजजनों ने नृत्य किया। सभी ने भगवान झूलेलाल के जन्मोत्सव की बधाईयां एक-दूसरे को द ी। इस अवसर पर भगवान झूलेलाल की 101 दीपों को प्रज्जलित कर महाआरती की गई।जिसमें मुख्य रूप पूज्य सिंधी जनरल पंचायत के अध्यक्ष पंडित विनोद शर्मा, नन्दू आडवानी, प्रमोद ककनानी, दृष्टानन्द नैनवानी, किशन लालवानी, शंकर मोटवानी, मोहनलाल फतनानी, भगवानदास आसवानी, हरिश व देवीदास प्रदनानी सहित समाजजनों ने केक काटा। व विशेष अरदास पाकर जन्मोत्सव की समाप्ति की। शिवानी ने बताया कि श्री प्रेमप्रकाश आश्रम में भगवान झूलेलाल का छठी महोत्सव 13 अप्रैल शनिवार को शाम 6 से 7 बजे तक मनाया जाएगा।

ें आश्रम के बाहर रेलवे स्टेशन रोड़ पर चतुर्थ वर्ष भाईबंध पंचायत व श्री प्रेमप्रकाश सेवा मण्डली के तत्वावधान में सतगुरू टेऊँराम जल मन्दिर का शुभारंभ किया गया। श्री प्रेमप्रकाश मण्डल द्वारा वार्षिक पर्व तीज त्यौहारों का पचांग केलेण्डर के रूप में प्रकाशित कर उसका विमोचन किया गया। पुरूषोत्तम शिवानी ने बताया कि यह पंचायत नगर के सिन्धी समाज को नि:शुल्क वितरित किया जाएगा।

ललाट पर लगाया मंगल तिलक और दी नववर्ष की शुभकामनाएं

शहर सहित पूरे जिले में शनिवार को  नववर्ष परंपरा व उत्साह के साथ मनाया। ललाट पर मंगल तिलक लगाकर एक-दूसरे को शुभकामनाएं दी तो मंदिरों में पहुंचकर देवदर्शन किए। वहीं परिवार में बड़ों का आशीर्वाद लेकर नए साल की शुरुआत लोगों ने की। गुड़ी पड़वा के साथ शुरु होने वाले नए साल को लेकर जिलेभर में दिनभर में अनेक आयोजन हुए। वहीं कई घरों में गुड़ी सजाकर महिलाओं ने पूजा-अर्चना की गई। दिनभर नववर्ष की बधाईयों का दौर जारी रहा। किसी ने चेटिंग तो किसी ने एसएमएस, किसी ने कॉल करके तो किसी ग्रीटिंग कार्ड देकर एक-दूसरे को नववर्ष की बधाईयां दी। शहर में लोगों ने नीम- मिश्री व काली मिर्च का प्रसाद खिलाकर लोगों को नववर्ष की बधाईयां दी।

सोशल मीडिया से लेकर चौराहों तक चला बधाईयों का दौर
कैलेंडर के अनुसार नए साल की शुरुआत शनिवार से हुई। इसे लेकर रात से ही सोशल मीडिया पर बधाई संदेशों का दौर शुरु हो गया।गुड़ी पड़वा के अवसर पर सुबह से ही लोगों का एक-दूसरे से मिलकर बधाईयां देने का दौर शुरु हुआ। इसके साथ ही गांधी चौराहें पर भाजपा-कांग्रेस के नेताओं ने एक साथ नया साल मनाया। वर्तमान भाजपा जनप्रतिनिधियों ने कांग्रेस पदाधिकरियों व नेताओं के साथ नए साल की शुभकामनाएं तिलक लगाकर दी। इधर महिलाओं ने सडक़ों पर रंगोली बनाने के साथ ही गुड़ी सजाकर यह पर्व मनाया। इतना ही नहीं विभिन्न संस्थाओं द्वारा गांधी चौराहों से लेकर अन्य चौराहों पर आवाजाही करने रहे लोगों को तिलक लगाकर नए साल की शुभकामनाएं दी।

कही दिया सूर्य अध्र्य, तो कही देवदर्शन के साथ की शुरुआत
नए साल की शुरुआत में सबसे ज्यादा शहरवासी नालछा माता व पशुपतिनाथ मंदिर पर दर्शन करने के लिए पहुंचे। इसके साथ ही शहर के अन्य देवालयों में भी भक्तों की दिनभर भीड़ जमा रही।कही सूर्य को अध्र्य देने के साथ तो कही मंदिरों में देवदर्शन के साथ लोगों ने नए साल की शुरुआत की।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts