Breaking News

10 फीट चौड़ी गली नहीं 40 फीट चौड़ा रास्ता बनाये नगरपालिका नपाध्यक्ष पर भेदभावपूर्ण कार्य करने के लगे आरोप

प्रतापगढ़ पुलिया पर कांग्रेस ने दिया प्रभावशाली धरना व ज्ञापन

मन्दसौर। ब्लॉक कांग्रेस कमेटी व कांग्रेस पार्षद दल ने शनिवार को प्रतापगढ़ पुलिया पर धरना देकर भगवान श्री पशुपतिनाथ मंदिर से महाराणा प्रताप बस स्टेण्ड तक सीधा मार्ग पूर्ण चौड़ाई में खोलकर चालू करने की मांग रखी। इस बाबत् एक ज्ञापन भी जिला कलेक्टर के नाम तहसीलदार को दिया गया।

जिला कलेक्टर को दिये गये ज्ञापन में कहा गया कि भगवान श्री पशुपतिनाथ मंदिर के लिये महाराणा प्रताप बस स्टेण्ड तक सीधा मार्ग बनाने की आवश्यकता वर्षों से मंदसौर नगर में महसूस हो रही थी। जिसके लिये 8 जनवरी 2010 को नगरपालिका के साधारण सम्मेलन में तत्कालीन कांग्रेस पार्षद युसुफ खेड़ीवाला ने एक प्रस्ताव रखा जो सर्वसम्मति से मंजूर हुआ। इस प्रस्ताव के मंजूर होने से शिवना नदी पर सेतु विकास निगम द्वारा लगभग 8 करोड़ की लागत से पुल व उज्जैन सिंहस्थ मद से लगभग 12 करोड़ की लागत से लिंक पुल का निर्माण हुआ तथा प्रतापगढ़ पुलिया से धानमण्डी तक लगभग 4 करोड़ की लागत से नगरपालिका द्वारा ओवरब्रिज का निर्माण किया गया। ओवरब्रिज के सामने धानमण्डी रोड़ पर मार्ग को शुक्ला चौक नयापुरा रोड़ होते हुए महाराणा प्रताप बस स्टेण्ड तक मिलाने हेतु एक मकान जो रास्ते के बीचोबीच में बाधा बना हुआ है उसे हटाया जाना आवश्यक है परन्तु प्रस्ताव मंजूर हुए 8 वर्ष तथा ओवरब्रिज निर्माण व लोकार्पण को भी 3 वर्ष पूर्ण हो चुके है इतने लम्बे अन्तराल के बावजूद बाधक बने मकान को न तो हटाया गया न हटाने हेतु अधिग्रहण की कोई कार्यवाही नगरपालिका द्वारा शुरू की गई। बल्कि आम जनता व मीडिया को गलत जानकारी नगरपालिका द्वारा दी जाती रही कि मकान का न्यायालय में विवाद चल रहा है तथा न्यायालय से स्टे हो गया है। जबकि वास्तविकता यह है कि बाधक बना मकान तीनो भाईयों श्री पुरूषोत्तम राठौर, श्री लालाराम राठौर व श्री बाबूलाल राठौर की संयुक्त सम्पत्ति है व इनके आपसी बंटवारे का विवाद न्यायालय में विचाराधीन है। नगरपालिका ने आज तक न तो इस मकान को जनहित में हटाने के लिये किसी भी न्यायालय में या शासन के समक्ष अधिग्रहण की कोई कार्यवाही ही चालू की है, ना ही नगरपालिका के खिलाफ किसी भी न्यायालय से कोई स्टे है। बाधक बने मकान के स्वामी भारतीय जनता पार्टी से जुड़े हुए है तथा नगरपालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार के समाज से है यही वजह है कि नगरपालिका की कोई रूचि इस मकान को हटाकर मार्ग को पूर्ण रूप से चौड़ा कर चालू करने की नहीं है। कांग्रेस पार्षदों द्वारा लगातार मार्ग चालू करने की मांग की जाती रही है परन्तु  नगरपालिका द्वारा आश्वासन देने के अलावा कोई कार्यवाही नहीं की गई। 11 नवम्बर शनिवार को  धरने का आव्हान किया था परन्तु अपरिहार्य कारणों से धरना स्थगित कर आज  रखा गया तो  इसके एक दिन पूर्व रास्ते के साईड में स्थित गोपाल पिता दौलतराम ग्वाला के मकान के 200 वर्गफीट के हिस्से में बने कच्चे दो कमरों को हटाया गया। जबकि डेढ़ वर्ष पूर्व ही गोपाल ग्वाला के मकान के 403 वर्गफीट हिस्से का हटाकर 403 वर्गफीट भूमि मोतियाखाई में दिये जाने का निर्णय नगरपालिका परिषद् मंदसौर में हो गया था। परन्तु उस निर्णय के होने के डेढ़ वर्ष में भी कोई कार्यवाही नहीं की गई व आनन फानन में धरने के दबाव में कार्यवाही की गई तथा गरीब मकान मालिकों को निर्माण का नियम अनुसार जो उचित मुआवजा दिया जाना था न वह दिया गया न भूमि की विनिमय रजिस्ट्री ही करवाई गई। फिलहाल मार्ग 10 फीट चौड़ी गली के रूप में चालु कर दिया गया हैं व पानी की पाईप लाईन डालने हेतु इस हिस्से को हटाना आवश्यक होने से हटाया है। रास्ते के बीचोबीच में बाधा बने मकान को हटाकर लगभग 40 फीट चौड़े मार्ग को चालू करने की कोई रूचि नगरपालिका की नहीं है।  कांग्रेस कमेटी द्वारा  मांग की गई कि  बीचो बीच रास्ते में बाधक बने मकान की अधिग्रहण की कार्यवाही तत्काल शुरू की जावे एवं अधिग्रहण नियमों का पालन करते हुए गाईड लाईन की कीमत का चार गुना मुआवजा कानून अनुसार मकान मालिकों को दिया जावे। जनहित में मार्ग को पूर्ण चौड़ाई में चालू किया जावे। जिससे भगवान श्री पशुपतिनाथ मंदिर जाने वाले दर्शनार्थियों को नगर में एक सीधा मार्ग उपलब्ध हो जावेगा तथा सदर बाजार जैसे मुख्य मार्ग का यातायात का दबाव भी कम होगा तथा मुख्य मार्गों पर लगने वाले जाम से भी मंदसौर की जनता को राहत मिलेगी। खानपुरा से नईआबादी क्षेत्र सीधा जुड़ सकेगा।

ज्ञापन का वाचन ब्लॉक कांग्रेस कमेटी अध्यक्ष एवं पार्षद मो. हनीफ शेख ने किया। धरना स्थल पर जिला कांग्रेस अध्यक्ष प्रकाश रातडि़या, जिला उपाध्यक्ष महेन्द्र गुर्जर, पूर्व जिलाध्यक्ष मुकेश काला, जिला महामंत्री रवि रांका, असगर मेव, कांग्रेेस नेत्री रफत पयामी, पूर्व नेता प्रतिपक्ष एवं पार्षद शाकेरा खेड़ीवाला, इस्माईल मेव, विजय गुर्जर, पूर्व नेता प्रतिपक्ष प्रीतिपालसिंह राणा, तरूण खीची, राजेश बंधवार, शैलेन्द्र बघेरवाल, पार्षद डिकपालसिंह भाटी, युवक कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष साजिद मेव, नाहरूभाई तम्बाकु वाले, कमलेश सोनी लाला, संजय राठौर, राजेन्द्र सेठिया, लियाकत निलगर, पार्षद प्रतिनिधि आरीफ बेग, आसीफ छीपा, अशफाक भाई, साजिद गौरी, अशांशु संचेती, तरूण शर्मा, मुकेश चनाल, कमलेश जैन, साबिर शाह, सलीमुद्दीन शेख, हेमन्त, उज्जवल सक्सेना, वर्षा सांखला, लियाकत अली शाह, ज्ञानसिंह राठौर, शुभम कुमावत, असलम भाई, मुर्तजा घडि़याली, शाहिद मेव, अजीत कुराडि़या, रमेश सिंगार, दशरथसिंह राठौर, समीर खान एडव्होकेट, हैदर लाला, आमीर अली उर्फ मोनू, जावेद मंसूरी, सरवर भाई, मजहर खान, हुसैन भाई दूध वाले, सहित सैकड़ों कांग्रेसजन उपस्थित थे। धरने का संचालन पूर्व पार्षद युसुफ खेड़ीवाला ने किया एवं आभार क्षेत्रीय पार्षद जितेन्द्र सोपरा ने माना।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts