Breaking News

14 साल की तपस्या हुई पूरी . . गौशाला भूमि अतिक्रमण मुक्त होने पर श्री टांक को मुख्यमंत्री ने चरणपादुका पहनाई

Hello MDS Android App

मन्दसौर। ग्राम कुंचड़ौद की सांवलिया गौशाला के अध्यक्ष एवं धर्मसेवी बंशीलाल टांक ने 14 साल पहले अपनी चरण पादुकाएं त्याग दी थी, इतने वर्षों से वे नंगे पैर ही चले चाहे चिलचिलाती धूप हो, ठंड की ऋतु हो या बरसात का मौसम। उन्होंने संकल्प लिया था कि जब तक कुंचड़ौद की गौशाला की भूमि अतिक्रमणकर्ताओं के कब्जे से मुक्त नहीं हो जाती वे चप्पल जूते नहीं पहनेंगे।

14 सालों से श्री टांक ने गौशाला भूमि को अतिक्रमण से मुक्त कराने के भरसक प्रयास किये। प्रशासन से बार-बार गुहार की लेकिन अतिक्रमण हटने की बजाय वर्ष दर वर्ष और बढ़ता ही गया। पिछले दिनों अनेक सामाजिक संगठनों के प्रतिनिधियों ने इस विषय में कलेक्टर ओमप्रकाश श्रीवास्तव को अवगत कराया और आग्रह किया था कि 30 मई को मुख्यमंत्री का मंदसौर प्रवास है और श्री टांक का संकल्प यदि पूरा होता है तो उन्हें मुख्यमंत्री के ही हाथों चरण पादुका पहनाई जाए।

कलेक्टर श्री श्रीवास्तव ने पूरे मामले को गंभीरता से लेकर प्राथमिकता से अपने मातहत अमले को निर्देशित किया। तहसीलदार ब्रह्मस्वरूप श्रीवास्तव तथा नायब तहसीलदार राजेश कुमार खरे ने कलेक्टर के निर्देशों का तत्काल पालन करते हुए अतिक्रमणकर्ताओं को नोटिस दिये व 28 मई को द्विपक्षीय सहमति से अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही पूरी की गई।
श्री टांक का संकल्प पूरा हुआ और मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने अपने प्रवास के दूसरे दिन 31 मई को सुबह शिवना तट पर श्रमदान में सम्मिलित होने के पूर्व श्री टांक को चरणपादुका (जूते) पहनाए। इस अवसर पर सांसद सुधीर गुप्ता, विधायक यशपालसिंह सिसौदिया, कलेक्टर ओमप्रकाश श्रीवास्तव,  पुलिस अधीक्षक मनोजकुमार सिंह व शिवना नदी में प्रतिदिन श्रमदान करने वाले अनेक श्रमदानी उपस्थित थे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *