Breaking News

3 करोड़ रुपए का कॉम्प्लेक्स कचराघर बना, व्यापारी परेशान, नहीं आते ग्राहक

नपा ने 8 साल पहले पुराने घंटाघर को तोड़कर 3 करोड़ की लागत से गजा महाराज काॅम्प्लेक्स तैयार कराया। इसमें व्यवसाय के लिए 72 दुकानें व 3 हॉल तैयार किए। इसमें पानी, पार्किंग, सुरक्षा व अन्य सुविधाएं नहीं होने से 50 दुकानें ही नीलाम हो पाईं। काॅम्प्लेक्स तैयार करने के बाद नपा इसे भूल ही गई। वर्तमान में गंदगी का अंबार है। शौचालयों के हाल ऐसे हैं जैसे सालों से सफाई नहीं हुई है। इससे व्यापारी को परेशान हैं। व्यापार भी असर पड़ने लगा है। हैरानी की बात है कि नपा सीएमओ ने स्वच्छता अभियान की शुरुआत भी यहीं से की थी।

शहर के मुख्य स्थान आजाद चौक पर नपा ने व्यापारियों की सुविधा के लिए 72 दुकानों का शाॅपिंग काॅम्प्लेक्स बनाया लेकिन सुविधा के अभाव में 8 साल बाद भी 22 दुकानें व 3 बड़े हाॅल खाली हैं। नपा को लाखों रुपए के राजस्व का नुकसान हो रहा है। जिन व्यापारियों ने काॅम्प्लेक्स में दुकानें ले रखी हैं वह भी मूलभूत सुविधाओं के अभाव में व्यापार नहीं कर पा रहे हैं। काॅम्प्लेक्स में सफाई कार्य नहीं होने से गंदगी बहुत हो गई है। पानी के पानी के लिए भी कोई सुविधा नहीं की गई। शौचालय के हाल ऐसे की यहां सालों से सफाई नहीं हुई है। गंदगी के कारण टायलेट के लिए व्यापारियों को बाहर जाना पड़ता है। हालात यह हैँ कि दूसरी मंजिल पर बने हाॅल का उपयोग टायलेट के रूप में करने लगे हैं। कपड़ा व्यापारी ओम गौड़ का कहना है कि नपा द्वारा काॅम्प्लेक्स में नियमित सफाई नहीं होने के कारण ऐसी स्थिति बनी है।

स्वच्छता अभियान यहीं से शुरू किया था

7 माह पहले नपा सीएमओ सविता प्रधान ने गजा महाराज शाॅपिंग काॅम्प्लेक्स से गंदगी को साफ करके स्वच्छता सर्वेक्षण 218 के लिए अभियान की शुरुआत की थी। सारे व्यापारियों को काॅम्प्लेक्स को साफ रखने की शपथ भी दिलाई थी लेकिन कुछ समय बाद वैसी ही स्थिति हो गई है।
26
20 से 25 लाख की एक दुकान

कॉम्प्लेक्स में जिन व्यापारियों ने दुकानें खरीदी हैं वह 20 से 25 लाख लागत की हैं लेकिन सुविधा कुछ नहीं है। गणेश कुमावत ने कहा कि इतनी महंगी दुकान लेने के बाद भी ग्राहक आना पसंद नहीं करता है। सफाई व पानी के लिए काई व्यवस्था नहीं है दिनभर बदबू आती है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts