Breaking News

30 लाख के कांजी हाउस का उपयोग सिर्फ त्योहारों पर

आवारा पशुओं की समस्या से शहर का निजात दिलाने के लिए तीस लाख रुपए खर्च कर कांजी हाउस तैयार किया गया। तीन माह पहले आवारा पशुओं को पकड़ने के लिए मुहिम भी शुरू की गई। लेकिन नगरपालिका का अभियान दस दिन से ज्यादा नहीं चल सका। सिर्फ कागजों पर ही पालिका के दावे दम तोड़ गए। अब अधिकारी खुद ही कह रहे हैं कि आवारा पशुओं को पकड़कर कांजी हाउस ले जाने की मुहिम सिर्फ त्योहारों पर ही चलती है।

आवारा पशुओं की समस्या लंबे समय से चली आ रही है। स्टेशन रोड, नेहरु बस स्टैंड, महाराणा प्रताप बस स्टैंड, गांधी चौराहा, गोल चौराहा, रामटेकरी तिराहा सहित शहर के सभी प्रमुख मार्गों पर पशु विचरण कर रहे हैं। इससे वाहन चालकों को परेशानी तो हो ही रही है। साथ ही यह दुर्घटनाओं का कारण भी बन रहे हैं। कांजी हाउस तैयार होने के बाद आवारा पशुओं की समस्या से निजात मिलने की उम्मीद लगाई जा रही थी। लेकिन ऐसा नहीं हुआ। कांजी हाउस में सभी व्यवस्था होने के बाद भी पशु रोड पर नजर आ रहे हैं। रविवार को कांजी हाउस में ताला लगा मिला।

पालिका का दिखावा
कांजी हाउस तैयार होने के बाद नगरपालिका ने आवारा पशुओं को पकड़ने के लिए मुहिम शुरू करने के दावे किए। शहर में पशुओं को जब्त कर पशुपालकों पर जुर्माना लगाने की मुनादी कराई गई। 200 रुपए जुर्माना और 100 रुपए पशुओं की देखरेख मिलाकर 300 रुपए का दंड निर्धारित किया गया। हालांकि दस दिन में ही नगरपालिका के दावों की पोल खुल गई। अब स्थिति यह है कि अधिकारी खुद ही कह रहे हैं कि त्योहारों पर ही अभियान चलाया जाता है।

दो लाख का बजट
फिलहाल 125 मवेशियों की क्षमता वाला कांजी हाउस उपयोग नहीं किया जा रहा। लेकिन इसके लिए दो लाख रुपए का बजट भी रखा गया है। मवेशियों के लिए चारे और पानी के लिए खर्च किया जा रहा है। इसके अलावा यहां दो चौकीदारों की नियुक्ति भी की गई है। साथ ही एक राजस्व निरीक्षक को इसकी जिम्मेदारी भी सौंपी गई है। यह बात अलग है कि अधिकारियों की उदासीनता के कारण तीस लाख रुपए खर्च करने के बाद भी शहर की सड़कों पर आवारा पशु विचरण कर रहे हैं।

त्योहार पर फिर चलाएंगे
कांजी हाउस चालू हालत में है। सितंबर में मुहिम चलाई थी। लेकिन त्योहारों पर ही आवारा पशु पकड़ने के लिए अभियान चलाया जाता है। फिर से त्योहार आने पर आवारा पशुओं को पकड़ा जाएगा।
-केजी उपाध्याय, स्वास्थ्य अधिकारी, नपा

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts