Breaking News

35 बार रक्तदान कर चुके : डॉ. यजुर्वेदी 5वी बार हुए राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित

मन्दसौर। अपने अब तक के जीवन काल में मानव सेवार्थ के लिए रक्तदान को ही एक संकल्प के रूप में लिये हुए 35 बार रक्तदान कर चुके और 4 बार राष्ट्रीय सम्मान पा चुके एवम अपने परिचितों ओर सामाजिक संगठनों और समाजो को भी इस पुनीत कार्य से जुड़ने की प्रेरणा देने वाले मंदसौर जिला चिकित्सालय में प्रभारी प्रबंधक के पद पर सेवारत ब्लड ऑन कॉल संस्था के संस्थापक डॉ हिमांशु यजुर्वेदी ने एक बार फिर मंदसौर नगर का नाम पूरे भारत मे फैलाया है उन्हें इस पुनीत कार्य के लिए पश्चिम बंगाल के हावड़ा में 5 वी बार मानव रत्न अलंकरण राष्ट्रीय सम्मान से सम्मानित किया गया है ।

पश्चिम बंगाल की मानव एकता फाउण्डेशन संस्था
8 जुलाई को हावड़ा में आयोजित इस भव्य समारोह के लिए 29 राज्यों के करीब 60 लोगो को चयनित किया गया था जिन्होने अपना जीवन रक्तदान में समर्पित कर दिया है । उन्हीं में से मध्यप्रदेश से लगभग 10 और मंदसौर से एकमात्र डॉ.यजुर्वेदी को चयनित किया गया था । इस समारोह के मुख्य अतिथि गुरुधाम सालासर के डॉ. नरोत्तम पुजारी एवं आर्मी मेडिकल ऑफिर केप्टन डॉ इंद्रयुध्द बेनर्जी ने डॉ यजुर्वेदी को प्रमाण पत्र देकर सम्मानित किया। इस समारोह में सेना के सम्मान में एक भव्य रक्तदान शिविर का भी आयोजन किया गया जिसमें डॉ यजुर्वेदी ने भी 35 वी बार रक्तदान किया इस शिविर में एकत्र किया गया रक्त भारतीय सेना के जवानों के लिये पहुॅचाया जायेगा।

उल्लेखनीय है कि डॉ यजुर्वेदी शहर का एक जाना पहचाना नाम है जो 24 घण्टे जरुरतमंदो को रक्तदान उपलब्ध कराने के लिये तत्पर रहते है। हर तीन महीने में रक्तदान करना उन्होने अपना रुटिंग बना लिया है। भारत के किसी भी कोने में अगर मरीज को रक्त की आवश्यकता होती है तो उनकी संस्था ब्लड ऑन कॉल तुरंत मरीज को रक्त उपलब्ध करा देती है । वे लगातार नगर की धार्मिक, सामाजिक संस्थाओं और समाजों को रक्तदान करने के लिये प्रेरित करते रहते है। डॉ.यजुर्वेदी का राष्ट्रीयअवार्ड से सम्मानित होना मंदसौर नगर के लिये गौरव की बात है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts