Breaking News

44 डिग्री तापमान , दोपहर बाद जमकर बरसे बादल

मंदसौर. शहर सहित जिले में शनिवार को गर्मी चरम पर रही। एक ही दिन में दो ऋतुओं का मौसम का नजारा दिखा। दोपहर तक ४३ डिग्री के तापमान ने खूब तपाया। लेकिन अचानक से मौसम का मिजाज बदला और आसमान पर बादल छाए और तेज हवाओं के साथ आंधी-तूफान का दौर शुरु हो गया। आधे घंटे तक आंधी के बाद फिर तेज बारिश शुरु हुई।

आधे घंटे की तेज बारिश ने पूरे शहर को भीगो दिया। बदलते मौसम ने लोगों को गर्मी से राहत तो दी। लेकिन आंधी के इस बवंडर ने घरों के पतरे उड़ाने से लेकर अनेक जगह पेड़ गिराने के कारण बिजली से आपूर्ति से लेकर हाईवे पर ट्रैफिक को प्रभावित किया।बारिश और आंधी ने जिले में शनिवार को जमकर कोहराम मचाया।

मंडी में भीग गई किसानों की उम्मीद
मंडी प्रांगण में किसानों की बड़ी मात्रा में उपज भीग गई। प्रांगण में बहते पानी और आंधी के साथ तेज बारिश के बीच लहसुन से लेकर अन्य तमाक प्रकार की ङ्क्षजसें यहां भीग गई।आंधी के साथ किसानों ने उपज को बचाने के लिए प्रयास शुरु किए, लेकिन आंधी इतनी तेज थी कि कोई प्रयास यहां कारगर नहीं हुआ और खुले प्रांगण में जितनी भी उपज थी वह बारिश आने पर पूरी भीग गई। यहां तक की पानी प्लेटफॉर्म तक भी पहुंचा और वहां भी उपज भीग गई। इससे किसानों को उपज के दाम में नुकसान वहन करना पड़ेगा।

आंधी ने मचाया कोहराम, कई जगह धराशाई हुए पेड़ तो उड़े पतरे
दोपहर बाद आंधी का दौर शुरु हुआ। शहर के साथ जिले में तेज आंधी के इस दौर के कारण मंडियों से लेकर हर और जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया। गांवों से लेकर शहर में अनेक जगहों पर पतरे उड़ गए तो पेड़ भी कई जगह धराशाई हो गई। आंधी और बारिश के कारण हर और उथल-पुथल मच गई।

हवा को दबाव इतना तेज था कि हाईवे पर भी वाहन चालको को अपने वाहन रोकना पड़े तो शहर की सडक़ो और गांव की गलियों में भी वाहन चालको को वाहन रोकना पड़े। नीमच मार्गपर शहर से कुछ ही दुरी पर एक दर्जन से भी अधिक यूकेलिपटस के रोड़ पर गिर गए। इसके कारण यातायात प्रभावित हुआ। वाहनो को इंतजार करना पड़ा। संजीत रोड पर यश बाजाली के सामने तो श्रीकोल्ड चौराहा पर जिला सहकारी बैंक परिसर के साथ ही स्टेशन रोड क्षेत्र में पेड़ गिरे।अंचल में भी अनेक जगहों पर पेड़ गिरे।

विद्युत प्रदाय भी हुआ ठप, फीडर से लेकर लाईन हुई फाल्ट
आंधी चलने के कारण शहर सहित जिले में बिजली प्रदाय ठप हो गया। शहर में करीब १६ से अधिक स्थानों पर विद्युत लाईन पर पेड़ गिरे तो ३३ केवी से जुड़े ३ फीडर और लाईन में फाल्ट हो गया।इसी तरह जिले में ५० से अधिक स्थानों पर लाईन पर पेड़ गिरने के कारण लाईन फाल्ट हो गई तो कई जगहों पर फीडर और ट्रांसफार्मर भी खराब होने के कारण बिजली गुल हो गई और कई घंटों तक बिजली आपूर्ति प्रभावित रही।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts