Breaking News

5 महीनों मे भी नगरपालिका नहीं हटा पाई अवेध होर्डिंग

होर्डिंग्स हटाने के लिए पांच माह पहले प्रक्रिया शुरू की लेकिन बल, संसाधन और अधिकार होने के बाद भी अब नपा इस अभियान से पीछे हटती नजर आ रही है। अब तक 20 लाख से अधिक का राजस्व नुकसान उठाने के बाद नपा ने अवैध होर्डिंग लगाने वालों के सामने घुटने टेक दिए हैं। हालांकि अधिकारी इस बात से इनकार करते हुए स्टाफ की कमी की बात कह रहे हैं।

शहर में लगे होर्डिंग्स को हटाने को लेकर नपा ने 22 जुलाई को संचालकाें की बैठक ली। विधायक यशपालसिंह सिसौदिया, नपा अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की उपस्थिति में हुई बैठक में होर्डिंग्स को लेकर शासन की नई नीति साफ की गई। इसमें पुराने होर्डिंग हटाकर जोन के आधार पर नया आवंटन किए जाने की बात कही। होर्डिंग संचालकों को सात दिनों की मोहलत भी दी गई। संचालकों ने अपनी बात भोपाल तक ले जाने की चेतावनी नपा को दी। इसके बाद नपा अभियान चलाना ही भूल गई। इसका सबसे बड़ा कारण राजनीतिक विज्ञापन होना सामने आया है। विभिन्न दल बड़ी कंपनियों के विज्ञापन करने वाले होर्डिंग्स पर राजनीतिक प्रचार को अघोषित समन्वय के साथ लगाते हैं। इसके चलते नपा चेतावनी से ज्यादा कुछ नहीं कर पा रही है। नपा को प्रशासनिक और वैधानिक अधिकार के बाद भी अब तक बड़ी कार्रवाई नहीं कर पाई। ठेके पर काम देने के बाद एक तरह से नपा इस जिम्मेदारी से बचने की गली निकाल रही है।

छोटी टीम नहीं कर पा रही बड़ा काम

नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार ने कहा होर्डिंग्स हटाने को लेकर नपा ने संचालकों को नियम बता दिए हैं। नपा के पास अतिक्रमण और सड़कों से कब्जा हटाने के लिए विकास शाखा की 10 लोगों की टीम है। 156 से ज्यादा होर्डिंग्स हटाने का काम बड़ा है। यह छोटी टीम से नहीं हो सकता है। नपा ने होर्डिंग्स संचालकों को खुद ही ये हटाने के लिए कहा लेकिन इसके गंभीरता से नहीं लिया गया। अब मोहलत नहीं दी जाएगी और नपा ठेका देकर ही इन्हें हटवा देगी।

नुकसान करने के बजाए बीच का रास्ता निकाले

जिला होर्डिंग्स एसोसिएशन के मनोज खेराजानी और संजय गुप्ता ने बताया प्रदेशस्तर पर हमारी एसोसिएशन ने अपनी बात शासन को कही है। सालों से लगे होर्डिंग्स को हटाने से बड़ा नुकसान होगा। इसके बजाए नपा जोन बनाए। शासनस्तर पर हमने बात पहुंचाई है। वहां से मार्गदर्शन आने के बाद ही प्रदेशस्तर पर हमारी प्लानिंग बनेगी।

स्टाफ की कमी रहती है, प्रभाव में भी रहता है लोकल स्टाफ

नपा सीएमओ सविता प्रधान ने बताया कि होर्डिंग हटाने के लिए नपा ठेका देने का प्लान बना रही है। यदि इसी काम में स्टाफ को लगा दें तो फिर दूसरे काम प्रभावित होता है। हमारे पास स्टाफ सीमित है। इसके अलावा एक कारण लोकल स्टाफ का प्रभाव में रहना भी है। ठेका देने पर संबंधित काम तो करेगा ही।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts