Breaking News

Mandsaur में दिखा करवाचौथ का चांद, महिलाओं ने तोड़ा व्रत

नगर में बुधवार को विवाहित महिलाओं ने करवा चौथ का महापर्व धूमधाम से श्रद्धापूर्वक मनाया। इस अवसर पर महिलाओं ने अपने सुहाग के स्वास्थ्य, दीर्घायु और मंगल कामना के लिए दिनभर उपवास रखा तथा रात को चंद्रमा को अर्घ्य देने के बाद व्रत खोला। महिलाओं ने सुबह स्नान के बाद ही पति, पुत्र-पौत्र और सुख सौभाग्य की कामना के लिए व्रत का संकल्प लेकर शिव, पार्वती, कार्तिकेय गणेश और चंद्रमा की पूजा भी की। चंद्रमा के उदय हो जाने पर विवाहिताओं ने चंद्रमा के दर्शन कर अर्घ्य देकर जल भोजन ग्रहण किया और तांबे या मिट्टी के करवे में चावल, शक्कर, दाल, सुहाग की सामग्री तथा नगदी रखकर उसका दान किया। विवाहिताओं ने पूजा करते समय कहानी भी सुनी है जो कि अर्जुन-द्रोपदी से संबंधित है और कहीं सात भाईयों की एक बहिन की कथा है। शहर के विभिन्न मंदिरों में कथा सुनाई गई। रात को चंद्रमा के दर्शन कर व्रत खोला।

जिला प्रशासन का करवाचौथ पर जिले की महिलाओं को तोहफा प्रत्येक सेक्टर में होगी जनसुनवाई, कलेक्टर की अपील आज सभी पुरुषों को महिला हिंसा मुक्त समाज का संकल्प लेना चाहिए, कलेक्टर स्वतंत्र कुमार सिंह ने सभी परियोजना अधिकारियों को निर्देशित किया है कि अधिकांश घरेलू हिंसा पीड़ित महिलाएं अपनी पीड़ा लेकर संरक्षण अधिकारी तक नही पहुँच पाती है ऐसे में हमारा दायित्व है कि हम उन तक पहुँचें, उनकी पीड़ा को अनुभव करें तथा उसे दूर करने का प्रयास करें।इसके लिए प्रत्येक सेक्टर सुपरवाइजर प्रति मंगलवार अपने सेक्टर में पहुँचकर ग्राम पंचायत स्तर पर आयोजित जन सुनबाई में सामिल रहें तथा सामान्य श्रेणी के प्रकरणों का परामर्श के माध्यम से निराकरण करें।आंगनवाड़ी कार्यकर्ताएं ग्रह भेंट के दौरान घरेलू हिंसा पीड़ित महिलाओं को चिन्हितकर परामर्श देगी एवं क़ानूनी प्रावधानों से अवगत करायेगी।आवश्यक होने पर संरक्षण अधिकारी स्वतः संज्ञान भी ले सकेंगे।

आइए सबसे पहले आपको बताते हैं कि कौन से योग इस करवाचौथ को दिव्य और चमत्कारी बना रहे हैं….

100 साल बाद करवाचौथ का महासंयोग

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts