Breaking News

आने वाले दिनों में किस कारण से हो सकता मंदसौर बंद

Story Highlights

  • क्षेत्रवासियों ने दिया कलेक्टर के नाम ज्ञापन - नयापुरा व जीवागंज में शराब की दुकान स्थानांतरित न हो

मन्दसौर। नयापुरा व जीवागंज क्षेत्र के रहवासियों ने कलेक्टर मंदसौर के नाम एक ज्ञापन देकर मांग की गई कि कालाखेत स्थित देशी शराब की दुकान हटाकर नयापुरा-जीवागंज क्षेत्र में स्थानांतरित नहीं की जाए। क्षेत्रवासियों ने विरोध करते हुए ज्ञापन में कहा कि नयापुरा व जीवागंज क्षेत्र पूरी तरह धार्मिक क्षेत्र है यहां अनेक समाजों के मंदिर स्थित है जहां श्रद्धालुओं का आना-जाना लगा रहता है। साथ शैक्षणिक संस्थायें भी यहां विद्यमान है। यह क्षेत्र अनेक संभ्रात परिवारों की आवासीय व रहवासी बस्ती भी है। ज्ञापन में कहा गया कि यदि इस क्षेत्र में कही भी देशी शराब की दुकान कायम की गई तो क्षेत्रवासी धरना, प्रदर्शन, भूख हड़ताल, चक्काजाम व मंदसौर बंद जैसे तीव्र आंदोलन करेंगे।

कालाखेत मैदान पर स्थित देशी शराब दुकान हटाने को लेकर कांग्रेस द्वारा चलाए जा रहे आंदोलन को लेकर अब नयापुरा व जीवागंज के रहवासी भी सामने आ गए हैं। कांग्रेस के आंदोलन में यही कहा जा रहा है कि दुकान को नयापुरा क्षेत्र में लगाया जाए। वहीं शनिवार को कलेक्टोरेट व कोतवाली में पहुंचे जीवागंज व नयापुरा क्षेत्र के रहवासियों ने बताया कि यह क्षेत्र पूरी तरह धार्मिक क्षेत्र है और यहां दुकान खुलती है तो असामाजिक तत्व शांति भंग कर देंगे। लोगों ने तीव्र आंदोलन की भी चेतावनी दी।

शनिवार को नयापुरा व जीवागंज क्षेत्र के पुरुष महिलाएं पहले तो कलेक्टोरेट पहुंचे। वहां नारेबाजी करने के बाद कलेक्टर के नाम एक ज्ञापन नायब तहसीलदार को सौंपा। इसके बाद सभी शहर कोतवाली पहुंचे और वहां एसपी के नाम एक ज्ञापन टीआई विनोदसिंह कुशवाह को सौंपा। ज्ञापन में बताया कि कालाखेत में एक तरफ 30 साल से लग रही देशी शराब की दुकान को नयापुरा या जीवागंज में स्थानांतरित करने का जो प्रयास किया जा रहा है वह ठीक नहीं है। नयापुरा व जीवागंज क्षेत्र पूरी तरह धार्मिक है। यहां श्री अजीतनाथजी जैन मंदिर, श्री मैणामााता मंदिर, श्री चारभुजानाथ मंदिर (ग्वाला समाज), श्री चारभुजानाथ मंदिर घाणावार (तैली समाज), नूरानी मस्जिद, अक्काशाह वली दरगाह, श्री सांवरियाजी मंदिर, श्री पीपली वाली माताजी मंदिर, राजेंद्र विलास गुरु मंदिर, श्री गोवर्धननाथ मंदिर, श्री जगदीश मंदिर, श्री ऋषियानंद कुटीया, श्री भूरिया महादेव मंदिर, जाट समाज का मंदिर तथा बाबा रामदेव मंदिर स्थित है। शासकीय कन्या उमावि बालागंज, कन्या माध्यमिक विद्यालय का मुख्य रास्ता भी नयापुरा रोड पर है। संभ्रांत परिवारों की आवासीय व रहवासी बस्ती है। इस क्षेत्र में कहीं भी देशी शराब की दुकान कायम की गई तो क्षेत्रवासी तीव्र आंदोलन करेंगे। इसमें धरना प्रदर्शन, भूख हड़ताल, चक्काजाम व मंदसौर बंद भी शामिल है।

कॉम्पलेक्स बनाना चाहते हैं
लोगों ने बताया कि हमें ऐसी जानकारी मिली है कि उस क्षेत्र में अशोक सेनी अपना कॉम्पलेक्स बनाना चाहता है इसी कारण वह कुछ बाहरी लोगों को बुलाकर दुकान हटाने के लिए आंदोलन करा रहे हैं जबकि कांग्रेस के नेताओं के साथ स्थानीय लोग न के बराबर है।

न स्कूल के बच्चे आते हैं न स्कूल का गेट
अभी कालाखेत में जिस जगह देशी शराब की दुकान संचालित है उस क्षेत्र से न तो किसी स्कूल के बच्चे गुजर रहे हैं और न ही किसी भी स्कूल का गेट उस क्षेत्र में खुलता है। महारानी लक्ष्मीबाई कन्या उमावि का गेट गांधी चौराहे की तरफ है और दुकान स्कूल के पीछे वाले क्षेत्र में है। जहां स्कूल का कोई गेट भी नहीं है। इसके अलावा कालाखेत मैदान में लगने वाले स्कूल भी देशी शराब दुकान से काफी दूर हैं। उन सबका रास्ता भी अलग भी है।

कांग्रेस कर चुकी है दुकान की तालाबंदी
उल्लेखनीय है कि कांग्रेस ने नेता इस दुकान को बंद कराकर नयापुरा में भेजने के लिए देशी शराब दुकान की तालाबंदी भी कर चुके हैं। उसके बाद दुकान दो-तीन दिन बंद भी रही है। कांग्रेस के जिलाध्यक्ष प्रकाश रातड़िया, पूर्व विधायक नवकृष्ण पाटिल, गौशाला अध्यक्ष अनिल संचेती, जिला उपाध्यक्ष महेंद्रसिंह गुर्जर, महिला जिला कांग्रेस अध्यक्ष बबीतासिंह तौमर सहित अनेक नेता इस दुकान को हटाने के लिए एसडीएम के पास जाकर ज्ञापन भी दे चुके हैं। इधर जब नयापुरा व जीवागंज क्षेत्र में आबकारी अधिकारी व ठेकेदार के लोग दुकान देखने गए तो लोगों ने विरोध शुरू किया और शनिवार को ज्ञापन देने पहुंचे।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts