Breaking News

PHOTO VIRAL : अंबेडकर जयंती पर दे डाली नेताजी को श्रद्धांजलि

Hello MDS Android App

नई दिल्ली| देश भर में शुक्रवार को भारतीय संविधान के निर्माता बाबासाहब भीमराव अंबेडकर की जयंती धूमधाम से मनाई गई। वहीं सोशल मीडिया पर एक तस्वीर खूब वायरल हुई। जो चर्चा का विषय बनी हुई है। सोशल मीडिया पर वायरल फोटोज को लेकर कई सन्देश भी वायरल हो रहे हैं। फोटो के पीछे हकीकत क्या है इसका अभी खुलासा नहीं हुआ है।

इस तस्वीर में  दिख रहा है कि दो महिलाएं  नेताजी सुभाष चंद्र बोस को श्रद्धांजलि दे रही हैं। उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले की यह तस्वीर बताई जा रही है । स्कूल में अंबेडकर  जयंती पर कार्यक्रम रखा गया था और नेताजी की तस्वीर पर हार चढ़ाया जा रहा है।

पूरे देश ने जहां बाबा साहब भीमराव अंबेडकर की जयंती मनाई। इस अवसर पर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी बाबा साहब को याद किया और बाबा साहब को अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। लेकिन अंबेडकर जयंति पर इन महिलाओं ने नेताजी को श्रद्धांजलि दे कर सोशल मीडिया पर वायरल हो गई हैं। तस्वीर में दिख भी रहा है कि पीछे बोर्ड पर लिखा हुआ है डॉ. भीमराव अंबेडकर 126वीं जयंती समारोह। अब सवाल उठता है कि अगर इन्हें भी ये पता है कि आज अंबेडकर जयंती है तो फिर ये लोग सुभाष चंद्र बोस की तस्वीर पर माला क्यों चढ़ा रही हैं। इनकी ये तस्वीर देखकर तो यही लगता है कि इन्हें पता ही नहीं है कि अंबेडकर कैसे दिखते थे और नेताजी कौन है। वहीं दूसरा सवाल तस्वीर की प्रमाणिकता को लेकर भी उठता है। कहीं फोटो से छेड़छाड़ तो नहीं की गई। ओर अगर छेड़छाड़ कर अम्‍बेडकर जी के जन्‍म दिवस का मजाक बनाने की सोच रखी गई है तो यह बहुत ही शर्म की बात है। अब सोशल मिडिया पर एक ओर फोटो वायरल हो रहा है जिसमें अम्‍बेडकर जी की फोटो है अब कोन सा सही है गलत है यह तो कोई फोटों एडिटिंग एक्‍सपर्ट ही बतायेगा सरकार को इसकी जांच करवानी चाहिए ताकि भविष्‍य में किसी महापुरूष के जन्‍म दिवस को मजाक ना बनाया जायें। निश्चित तौर पर इस फोटों के माध्‍यम से दलितों का मजाक उढाया जा रहा है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts

1 Comment

  1. Brajesh Arya

    अगर छेड़छाड़ कर अम्‍बेडकर जी के जन्‍म दिवस का मजाक बनाने की सोच रखी गई है तो यह बहुत ही शर्म की बात है। अब सोशल मिडिया पर एक ओर फोटो वायरल हो रहा है जिसमें अम्‍बेडकर जी की फोटो है अब कोन सा सही है गलत है यह तो कोई फोटों एडिटिंग एक्‍सपर्ट ही बतायेगा सरकार को इसकी जांच करवानी चाहिए ताकि भविष्‍य में किसी महापुरूष के जन्‍म दिवस को मजाक ना बनाया जायें। निश्चित तौर पर इस फोटों के माध्‍यम से दलितों का मजाक उढाया जा रहा है।

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *