Breaking News

नगर पालिका में पीआईसी की बैठक बनी अखाड़ा हुआ विवाद! गाली-गलौज व झूमा-झटपी

मंदसौर। नगर पालिका में PIC की बैठक के दौरान ही एक कांग्रेस पार्षद डिगपालसिंह भाटी ने अंदर घुसकर हंगामा कर दिया। पहले दो सभापतियों के साथ गाली-गलौज की। इसके बाद स्वास्थ्य सभापति विनोद डगवार के साथ भाटी की झूमा-झटपी भी हो गई। दोनों के बीच काफी देर तक बहस भी हुई। इस दौरान पूरी नगर पालिका का माहौल गर्म हो गया। बाद में कांग्रेस पार्षद हनीफ शेख व नपाध्यक्ष बंधवार की समझाइश पर मामला शांत हो गया।

नगरपालिका कार्यालय में नपाध्यक्ष चेंबर में मंगलवार की शाम 4 बजे प्रेसिडेंट एंड कांउसिल (PIC) की बैठक आयोजित हुई। बैठक शाम 5 बजे उत्तरार्ध में पहुंची ही थी कि कांग्रेस पार्षद बैठक में जा पहुंचे। उन्होंने अपने वार्डमें विकास कार्य नहीं कराने का आरोप लगाते हुए हंगामा बरपा दिया। सभापतियों के अनुसार पार्षद ने पीआईसी की महिला सदस्यों की उपस्थिति में गाली-गलोज भी की। यहां लोक निर्माण सभापति और स्वास्थ्य समिति के सभापति के साथ कांगे्रस पार्षद की तीखी झड़प हुई। यहां बात मारपीट की नौबत तक आ गई। हालांकि नगरपालिका अध्यक्ष ने बीच- बचाव कर मामला शांत कराने का प्रयास किया। दूसरी और घटना की सूचना मिलने पर पार्षद व ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष मोहम्मद हनीफ शेख भी बैठक में पहुंचे। यहां उन्होंने दोनो पक्षों को समझाया। बाद में मामला शांत हो गया। मिली जानकारी अनुसार मंगलवार शाम लगभग 5 बजे नगर पालिका में नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार के कक्ष में पीआईसी की बैठक चल रही थी। सीएमओ हिमांशु भट्ट सहित सातों सभापति भी मौजूद थे। इसी दौरान गुस्से में दनदनाते हुए डिगपालसिंह भाटी दरवाजे को धक्का देते हुए अंदर आ गए और कहा कि जब काम ही नहीं हो रहे हैं तो यह पीआईसी की बैठक किस काम की है। सबसे पहले लोक निर्माण विभाग के सभापति मुकेश खमेसरा से भिड़े और गाली-गलौज करते हुए कहा कि मेरे वार्ड में कार्य क्यों नहीं हो रहे हैं। इस पर खमेसरा ने भी कहा कि गाली क्यों दे रहे हैं। अभी इन दोनों में गर्मागर्मी हो ही रही थी कि भाटी स्वास्थ्य सभापति विनोद डगवार से भी कहने लगे कि हमारे वार्ड में साफ-सफाई क्यों नहीं हो रही है। और डगवार से भी गाली-गलौज करने लगे। इस पर डगवार ने कहा कि गाली क्यों दे रहे हैं काम नहीं हो रहा है तो बताओ। भाटी ने अनाप-शनाप बोलना जारी रखा तो दोनों के बीच झूमा-झटकी हो गई। इसी बीच शोर सुनकर नपा के कर्मचारी और वहां आए लोग एकत्र हो गए। बाद में नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार, कांग्रेस पार्षद हनीफ शेख ने बीच-बचाव कर दोनों पक्षों को समझाइश दी।

इस प्रकार हुआ घटनाक्रम
जानकारी अनुसार नपाध्यक्ष के चेंबर में नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की अध्यक्षता में PIC के सदस्य विनोद डगवार, मुकेश खिमेसरा, पुलकित पटवा, लिखिता गौड, विक्रम भैरवा एवं सीएमओ हिमांशु भट्ट व अन्य नपाधिकारियो के साथ बैठक चल रही थी। बैठक में करीब 150 प्रस्ताव रखे गए। बैठक में एंजेडे के आखिरी के 2-3 प्रस्ताव पर विचार- विमर्श बाकी था तभी वार्ड क्रमांक-38 के पार्षद दिकपालसिंह भाटी चैंबर में घुसे। उन्होंने बैठक में आते ही आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि उनके वार्डमें डेढ साल से विकास कार्यनहीं हो रहे है। नपाध्यक्ष सीएमओ सहित नपा के तमाम आलाधिकारियों को 8-9 आवेदन दे चुके है। यहां उन्होंने गाली-गलोच तक कर डाली। उनका निशाना लोक निर्माण समिति सभापति खिमेसरा व स्वास्थ्य समिति के सभापति डगवार थे। इस पर दोनों सभापति भाटी पर भड़क उठे। दोनो पक्षो के बीच तीखे आरोप- प्रत्यारोप लगे। यहां दोनो पक्षो में मारपीट की नौबत आ गई। यदि नपाध्यक्ष बंधवार बीच- बचाव नहीं करते तो मामला और बढ़ जाता। बड़ी देर तक बैठक में हंगामा मचता रहा। बाद में सूचना पर ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष मोहम्मद हनीफ शेख मौके पर पहुंचे। उन्होंने भाटी, डगवार व खिमेसरा को समझाया। इस बीच कांग्रेस पार्षद विजय गुर्जर व पार्षद प्रतिनिधि तरुण खींची भी पहुंच गए।

 

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts