Breaking News

सहस्त्र शिवलिंग मंदिर का कार्य 10 माह में पूरा करना है लेकिन सिर्फ बैसमेंट ही तैयार हुआ

मंदसौर. 4 करोड़ से अधिक की लागत से भगवान पशुपतिनाथ मंदिर के समीप सहस्त्र शिवलिंग मंदिर का निर्माण शुरु हुआ। 10 माह में यह काम पूरा करना है, लेकिन तीन माह बीतने के बाद अब तक सिर्फ बैसमेंट ही तैयार हो पाया है। कछुआ चाल से चल रहा यह प्रोजेक्ट समय पर कैसे पूरा होगा। यह बड़ा सवाल बन गया है। प्रबंध समिति में एसडीएम खुद है और उनकी निगरानी में काम चल रहा है। बावजूद काम गति नहीं पकड़ पा रहा है।

पूर्व सीएम ने किया था भूमिपूजन
पूर्व मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान ने मंदसौर प्रवास के दौरान 30 मई को सहस्त्र शिवलिंग मंदिर निर्माण कार्य का भूमिपूजन किया था। फिर १ नवंबर से काम शुरु हुआ, लेकिन बार-बार आ रहे तकनीकि अवरोध के कारण अब तक काम गति नहीं पकड़पाया है। और प्रोजेक्ट धीमी गति से चल रहा है। मंदिर निर्माण के लिए पशुपतिनाथ मंदिर प्रबंध समिति ने मास्टर प्लॉन तैयार किया। उसी के हिसाब से काम शुरु भी किया। लेकिन फिर भी अब तक सिर्फ प्रारंभिक काम ही हो पाया है। अब बचे हुए 7 माह में पूरा मंदिर कैसे बनेगा। यह बड़ा सवाल बन गया है। 4 करोड़ 12 लाख की लागत से बनने वाले सहस्त्र शिवलिंग मंदिर की ड्रांईग तत्कालीन कलेक्टर ओमप्रकाश श्रीवास्तव ने आर्किटेक्ट सुबोध जैन से तैयार करवाई थी। अभी सिर्फ बैस के बाद पिल्लर खड़े करने का काम हो पाया है।

सहस्त्र शिवलिंग मंदिर 
मंदिर प्रबंध समिति ने मास्टर प्लॉन तैयार कर जो ड्राइंग तैयार की है। उसके अनुसार सहस्त्र शिवलिंग मंदिर में प्रवेश द्वार से लेकर शिवना के घाट और उद्यान से लेकर आने वाले दर्शनार्थियों के लिए बैठक से लेकर पानी के अलावा अन्य तमाम सुविधाएं यहां रहेगी। साथ ही प्रवेश द्वार व स्वागत मंडप भी बनाया जाएगा। साथ ही सौदर्यीकरण से लेकर पूजा के लिए विशेष इंतजाम यहां होगें। सहस्त्र शिवलिंग मंदिर में शिवलिंग पर भगवान शिव के एक हजार एक अलग-अलग नाम होगें। पशुपतिनाथ मंदिर पर आने वाले दर्शनार्थी यहां भी सहस्त्र शिवलिंग का दर्शन कर सकेंगे।

घाट का निर्माण होगा
शिवना तट पर बन रहे सहस्त्र शिवलिंग मंदिर के पास घाट बनाया जाएगा। धर्मालुओं को नदी में पर्व के दौरान नहाते समय कोई परेशानी न हो। अमावस्या सहित अन्य पर्व पर भीड़ को देखते हुए महिला और पुरूषों के लिए अलग-अलग घाट पर व्यवस्था भी रहेगी।

निर्माण कार्य प्रगति पर है
1 नवंबर 2018 से मंदिर निर्माण का कार्य शुरू हुआ जो प्रगति पर है। इसका कार्य १० माह में पूरा हो जाएगा। प्रथम चरण में जमीन का बैस तैयार कर पिल्लर खडे हो चुके है। मास्टर प्लॉन के तहत सहस्त्र शिवलिंग मंदिर का निर्माण किया जा रहा है। प्रवेश मंडप, प्रवेश द्वार, धाट सहित बगीचा और अन्य सोंदर्यीकरण का कार्य भी होगा।
-राहुल रूनवाल, प्रबंधक, पशुपतिनाथ मंदिर

बात करेंगे
मंदिर प्रबंधक से बात कर मंदिर निर्माण में आ रही परेशानी को लेकर बातचीत की जाएगाी।
-शिवलाल शाक्य, सचिव पशुपतिनाथ मंदिर समिति

फैक्ट फाईल
– 1 नवंबर 2018 से शुरू हुआ सहस्त्र शिवलिंग मंदिर निर्माण कार्य
-4 करोड़ 12 लाख की लागत से बनेेगा मंदिर
-10 माह में मंदिर निर्माण का कार्य पूरा करना है
-तीन माह में दस प्रतिशत ही हुआ काम
-प्रवेश मंडप, स्वागत मंडप व घाट भी प्लान के तहत बनेंगे
– मंदिर के समीप सोंदर्यीकरण कर बगीचा व घाट बनाया जाएगा
– दर्शनार्थियों के बैठने के स्थान, पूजा स्थल सहित अन्य सुविधाएं होगी

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts