Breaking News

Video News – प्रहलाद दादा के हत्यारे का नाम व वजह आई सामने, आरोपी फरार



  • बुलेट पर आया मनीष, मंदसौर नपाध्यक्ष की कनपटी पर दागीं 2 गोलियां, मौके पर ही मौत 
  • गुम हो गई शहर हंसी, शादी में जाना था, रुपए खुल्ले कराने खड़े थे, गोली लगते ही गिरे, फिर नहीं उठे 
  • नाइन एमएम पिस्टल से चलाईं गोलियां : बंधवार सड़क पर 10 मिनट पड़े रहे, मौके पर ही हो चुकी थी मौत

मंदसौर। शहर के नई आबादी इलाके में गुरुवार शाम बुलेट से आए आरोपी मनीष बैरागी ने नगरपालिका अध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की गोली मारकर हत्या कर दी। घटना कंट्रोल रूम से महज 300 मीटर की दूरी पर हुई। आरोपी ने नपाध्यक्ष की कनपटी पर बहुत ही करीब से नाइन एमएम पिस्टल से 2 गोलियां दागने के बाद और बुलेट छोड़कर वहां से भाग गया। इसी दौरान वहां नयापुरा जैन मंदिर के पास निवासी दिनेश लोढ़ा पहुंचे। उन्होंने नपाध्यक्ष को पहचाना और आॅटो से उनको जिला अस्पताल पहुंचाया। पुलिस के अनुसार मामले में मनीष बैरागी की तलाश की जा रही है। उसे जल्दी गिरफ्तार किया जाएगा। करीब 10 मिनट तक नपाध्यक्ष वहीं पड़े रहे। बाद में लोगों ने उन्हें टैक्सी से जिला अस्पताल पहुंचाया, जहां डॉक्टरों ने परीक्षण कर मृत घोषित कर दिया। जानकारी मिलने पर बड़ी संख्या में समर्थक अस्पताल पहुंच गए और हंगामा कर दिया। तोड़फोड़ भी कर दी। पुलिस ने स्थिति संभाली। रात 8 बजे एसपी अस्पताल पहुंचे तो लोगों ने उनके खिलाफ भी नारे लगाए। एसपी टीके विद्यार्थी के अनुसार हत्या का कारण प्रॉपर्टी व लेन-देन सामने आया है। आरोपी मनीष के खिलाफ हत्या का केस दर्ज किया है। मौके से उसकी बुलेट जब्त की है। आरोपी फरार है।

नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार की गुरुवार शाम गोली मारकर हत्या करने के मामले में विवाद का कारण चुनाव के समय आरोपी द्वारा 5 लाख रुपए खर्च करना और वापस मांगने पर नपाध्यक्ष द्वारा उसकी गुमटियां फिंकवाने की धमकी देना सामने आया है। हालांकि इसमें जमीन विवाद को जोड़कर भी देखा जा रहा है। हालांकि पुलिस सूत्रों के अनुसार जमीन विवाद में कुछ राजनीतिक लोगों के नाम भी सामने आने की संभावना जताई जा रही है। नपाध्यक्ष का अंतिम संस्कार शुक्रवार को होगा।

शाम 7 बजे नपाध्यक्ष प्रहलाद बंधवार (उम्र 56 वर्ष) नई आबादी स्थित पूर्व पार्षद विजय शर्मा की चाय की दुकान पर खड़े थे। यहां बुलेट (CIU 1834) पर एक युवक आया और नपाध्यक्ष की कनपटी पर एक के बाद एक 2 गोलियां दाग दीं। इसके बाद वह बुलेट को छोड़कर भाग गया। नपाध्यक्ष वहीं गिर गए। चेहरे पर टोपी होने से पहले तो लोगों ने ध्यान नहीं दिया। बाद में किसी ने बंधवार को पहचाना। उन्हें टैक्सी से जिला अस्पताल पहुंचाया। जैसे ही गोलीकांड की खबर नगर में फैली समर्थक जिला अस्पताल पहुंच गए। उन्होंने पुलिस व प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी कर विरोध जताया। कुछ समर्थकों ने अस्पताल में तोड़फोड़ भी की। शाम 7.30 बजे सीएसपी राकेशमोहन शुक्ला अस्पताल पहुंचे तो समर्थक फिर भड़क गए। सभी अस्पताल के सामने रोड पर जमा हो गए और प्रदर्शन करने लगे। रात 8 बजे एसपी टीके विद्यार्थी के आने पर उन्हें भी घेर लिया और नारे लगाए। एसपी विद्यार्थी ने बताया जांच की जा रही है। फिलहाल हत्या के कारणों का खुलासा नहीं हुआ है। प्रारंभिक जांच में जमीन विवाद की बात सामने आई है।

प्रह्लाद बँधवार जी की हत्या के आरोपी का नाम पुलिस ने देर रात किया ओपन

Posted by Hello Mandsaur.Com on Thursday, January 17, 2019

मनीष बैरागी कौन है

पुलिस सूत्रों के अनुसार बुलेट संजीत नाका की यश बालाजी कॉलोनी निवासी मनीष बैरागी की है। हत्या के पीछे ये जमीन भी वजह मानी जा रही है।

एएसपी ने कहा मनीष बैरागी प्रमुख संदिग्ध
एएसपी एसएस कनेश ने बताया कि अभी तक मिले सबूतों और अन्य सोर्स से मिल रही खबरों के मुताबिक मनीष बैरागी ही प्रमुख संदिग्ध के रुप में सामने आ रहा है। और कोई जमीन विवाद का मेटर है इसके पीछे कुछ अन्य लोग भी हो सकते हैं। हत्या की ठोस वजह आरोपितों की गिरफ्तारी के बाद ही पता चल पाएगी। मनीष बैरागी अभी फरार है। उसके भाई को पुलिस ने हिरासत में लिया है वहीं एक अन्य सांदिग्ध से भी पूछताछ चल रही है।

24 घंटे में कार्रवाई हो… वरना कठोर निर्णय लेंगे- भाजपा के प्रदेश सिंह
भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष राकेश सिंह ने कहा है कि मंदसौर में हुई घटना निंदनीय और कायराना है। जब से कांग्रेस की सरकार बनी है, तब से कानून व्यवस्था में अराजकता का माहौल है। विधानसभा की उपाध्यक्ष हिना कांवरे के बाद यह घटना चिंताजनक है। उन्होंने कहा यदि 24 घंटे के भीतर कार्रवाई नहीं की गई तो भाजपा कठोर निर्णय लेगी।

भाजपा का ऐलान… आज मंदसौर-नीमच में स्वैच्छिक बंद
घटना की जानकारी बाजार में फैलते ही व्यापारियों ने दुकानें बंद कर दीं। भाजपा जिला महामंत्री अजयसिंह चौहान ने बताया घटना के विरोध में शुक्रवार को मंदसौर, नीमच व रतलाम तीनों जिले बंद रहेंगे।

समर्थकों ने अस्पताल में की तोड़फोड़
बंधवार का शव जिला अस्पताल में पहुंचने के बाद उनकी खबर सुनकार बड़ी संख्या में उनके समर्थक भी अस्पताल में जमा हो गए। यहां उन्होंने जमकर हंगामा मचाया और अस्पताल में तोड़फोड़ भी मचाई।

शोक स्वरूप आज बंद रहेगे लगभग सभी स्कूल
लोकप्रिय नपाध्यक्ष (दादा) की हत्या के विरोध में शुक्रवार को मंदसौर सहित रतलाम व नीमच में स्वैच्छिक बंद रहेगा। भाजपा जिला महामंत्री महेंद्र चौरड़िया ने बताया हत्या के विरोध में मंदसौर नीमच रतलाम स्वैच्छिक बंद रहेंगे। स्कूल के अनेक संचालको नगर के प्रथम नागरिक प्रहलाद बंधवार के निधन के कारण शोक स्वरूप शुक्रवार को विद्यालय बंद रखने रखने का निर्णय लिया है।

पहले नमस्ते किया फिर मार दी गोली
सीएसपी राकेशमोहन शुक्ला ने बताया फिलहाल एक प्रत्यक्षदर्शी लोकेंद्र कुमावत मिला है। उसने बताया कि वारदात का आरोपी मनीष बुलेट पर सवार हाेकर आया था। उसने पहले बंधवार से नमस्ते किया। इसके बाद कुछ बात कर रहा था तभी दोनों के बीच कहासुनी हो गई। इसी दौरान मनीष ने जेब से पिस्टल निकाली और बंधवार पर दो फायर किए। पुलिस को भी मौके से दो खाली खोखे मिले हैं।

नपाध्यक्ष के घर के बाहर पसरा सन्नाटा
गोलीकांड के बाद रात 9.20 बजे नपाध्यक्ष के हनुमाननगर स्थित घर के पास पुलिस जवान तैनात कर दिए गए। हालांकि इस दौरान उनके घर के पास पूरी तरह सन्नाटा पसरा रहा। परिवार के सभी लोग अस्पताल में थे।

शवयात्रा में शामिल होंगे पूर्व सीएम
भाजपा के लोकप्रिय नेता बंधवार की शवयात्रा में पूर्व सीएम शिवराजसिंह चौहान भी शामिल होंगे। सांसद सुधीर गुप्ता व विधायक जगदीश देवड़ा ने बताया फोन पर चर्चा कर पूर्व सीएम को स्थिति से अवगत कराया है। उन्होंने सुबह 11 बजे मंदसौर पहुंचने की बात कही है।

आरोपी 5 लाख रुपए का भर रहा था ब्याज, इससे था नाराज
पुलिस सूत्रों के अनुसार हत्या के पीछे कारण रुपयों का लेन-देन सामने आया है। इसके अंतर्गत बंधवार के चुनाव में मनीष बैरागी ने 5 लाख रुपए ब्याज पर लेकर खर्च किए। इसके बाद जब बंधवार चुनाव जीत गए तो मनीष ने उनसे रुपए वापस मांगे। इस पर नपाध्यक्ष ने पहले तो कुछ दिन में रुपए देने की बात कही लेकिन बाद में रुपए नहीं दिए। तभी से मनीष 5 लाख रुपए का ब्याज दे रहा था। इसके बाद नपाध्यक्ष ने एक बार रुपए मांगने पर उसकी गुमटियां हटवाने की भी धमकी दीं। इसी बात से मनीष नाराज चल रहा था। गुरुवार को भी वह रुपए मांगने नपाध्यक्ष के पास पहुंचा। यहां विवाद हुआ और उसने फायर कर दिया।

यहां से निकलेगी शवयात्रा
नगरपालिका अध्यक्ष बंधवार की शवयात्रा शुक्रवार सुबह 11.30 उनके निवास स्थान हनुमाननगर से निकलेगी। यह नरसिंहपुरा, जीवागंज, शुक्ला चौक, धानमंडी, सदर बाजार, भाजपा कार्यालय, गांधी चौराहा, उधमसिंह चौराहे से होते हुए मुक्तिधाम पहुंचेगी।

देररात आईजी ने किया निरीक्षण
घटना की सूचना पर गुरूवार रात आईजी मंदसौर पहुंचे उन्होंने माैके का निरीक्षण किया। आईजी राकेश कुमार गुप्ता रात 11.50 बजे मंदसौर पहुंचे और सीधे घटना स्थल पर जाकर मुआयना किया।

भूरा को दिए थे 45 लाख रुपए
मनीष के अलावा पुलिस ने एक अन्य संदिग्ध भूरा को भी हिरासत में लिया है। बताया जाता है कि किसी जमीन को लेकर नपाध्यक्ष ने बाजार से लेकर भूरा को 45 लाख रुपए दिए थे। भूरा उन्हें जमीन नहीं दिला रहा था। नपाध्यक्ष इन्हीं रुपयों को लेकर बार-बार भूरा को तकादा कर रहे थे।

सीसीटीवी फुटेज तलाश रहे हैं
सीएसपी राकेशमोहन शुक्ल ने बताया चश्मदीद मिले हैं। मनीष बैरागी ने बंधवार पर फायर किए थे जिससे उनकी मौत हो गई। इसमें जमीन को लेकर विवाद सामने आ रहा है। हमने टीमें बनाकर जगह-जगह भेजी है। मनीष को जल्द ही गिरफ्तार किया जाएगा। सीसीटीवी फुटेज भी तलाश रहे हैं।

जमीन व रुपयों के विवाद के चलते अब तक यह हुए गोलीकांड
जमीन विवादों के चलते जिले में भी कई गोलीकांड हुए है। 30 दिसंबर 2015 को बदमाशों ने बदमाशों ने बीपीएल चौराहे पर व्यापारी वीरेंद्र ठन्ना की गोली मार कर हत्या कर दी, 1 दिसंबर 2016 को बदमाशों ने नगर के कालाखेत स्थित डायमंड ज्वेलर्स नामक संस्थान में फायरिंग की। इसके बाद इसी मामले को लेकर नीमच में डायमंड ज्वेलर्स संचालक पर फायरिंग की। मामले में ज्वेलर्स संचालक का मित्र अजय सोनी गंभीर रूप से घायल हुआ। इसके बाद बदमाशों ने रुपयों के विवाद के चलते 31 मई 2017 को पिपलियामंडी निवासी पत्रकार कमलेश जैन की गोली मार कर हत्या की गई।

बाइट sp मंदसौर टी के विध्यार्थी

Posted by Hello Mandsaur.Com on Thursday, January 17, 2019

इंदौर ओर मंदसौर गोली कांड पर बोले गृह मंत्री बाला बच्चन….

Posted by Hello Mandsaur.Com on Thursday, January 17, 2019

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts