Breaking News

कोर्ट ने फिर किया साथ-साथ, छोटी-छोटी बातों को लेकर हुए थे अलग

लोक अदालत में शनिवार को पति-पत्नी के अलग-अलग रहने का एक मामला सामने आया, इन दोनो के बीच में शादी के कुछ समय बाद ही छोटी- छोटी बातो को लेकर विवाद होते थे। आए दिन के विवाद से तंग होकर पति-पत्नी एक- दूसरे से अलग- अलग रहने लगे। मामला फैमिली कोर्ट तक पहुंचा। कोर्ट में मामला समझौता योग्य लगा।

मजिस्ट्रेट दुर्गा डाबर ने दोनो को समझाया। असर यह हुआ कि पांच साल से अलग- अलग रह रहे पति- पत्नी फिर साथ- साथ हो गए। कोर्ट के निर्णय के बाद ये दोनों साथ-साथ कोर्ट से बाहर निकले। अभिभाषक नौशाद अंसारी ने बताया कि अचेरी निवासी शफी मोहम्मद पिता अन्नू उर्फ अनवर व फरजाना के बीच करीब 5 साल पहले छुट-मुट बात को लेकर विवाद हो गया था। इस कारण से फरजाना पति से अलग होने की बात कहकर अपने दो बच्चों के साथ मायके मदारपुरा चली गई थी। करीब 3 साल पहले भी दोनो ने राजीनामा को लेकर हामी भरी थी, लेकिन किन्हीं कारणों से दोनो के बीच फिर मनमुटाव हो गया। शनिवार को लोक अदालत में दोनों ने मजिस्ट्रेट दुर्गा डाबर के समक्ष समझौता किया। मजिस्ट्रेट ने उन्हें विषम परिस्थितियों में भी एक-दूसरे को समझने तथा फिर से अलग नहीं होने की समझाईश दी। फरजाना व शफी मोहम्मद की एक 7 वर्षीय बेटी नूर फातिमा व 5 वर्षीय बेटा हसनेन है। दोनों ने बताया कि उनके बीच मनमुटाव खत्म होने से बच्चों में अधिक खुशी है। समझौते के दौरान जिला विधिक सेवा प्राधिकरण अध्यक्ष एवं जिला व सत्र न्यायाधीश प्रभातकुमार मिश्रा सभी न्यायालयों में निरीक्षण करते हुए फैमिली कोर्ट में पहुंचे। यहां उन्होंने शफी मोहम्मद व फरजाना को समझाईश दी और उत्साह से जीवनयापन करने की बात कहीं।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts