Breaking News

जानें! बिल्ली का काटा हुआ रास्ता क्यों माना जाता है अशुभ?

अंधविश्वास:- अगर बिल्ली रास्ता काट जाये तो अपना रास्ता बदल ले।
तर्क :- बिल्ली है तो एक साधारण सा और प्यारा सा जानवर (प्यारा तब तक ही जब तक वह गुस्से में पंजा न मारे) लेकिन हम इंसानो ने इस प्यारे से जानवर को अंधविस्वाश के तले बुरा बना दिया। हम सभी ने कभी ना कभी बिल्ली के  बच्चो को जरूर देखा होगा और बहुत तो इनके साथ खेले भी होंगे, कितने प्यारे होते है ना ये, पर हम ने इसी जानवर को कही – कही बहुत अच्छे तो कही -कही बहुत बुरे शगुन के तौर पर प्रस्तुत कर दिया है। बिल्ली से जुड़े कुछ अच्छे शगुनो में है – दीपावली के दिन यदि आपको बिल्ली दिख जाये तो इसे धन – सम्पदा के आगमन का प्रतीक मानते है।  और यदि किसी काम के लिए जाते समय आपको बिल्ली दिख जाये और वो भी मुँह में मांस के टुकड़ो के साथ तो समझो आपका काम ठीक होगा।
लेकिन बिल्ली से जुड़े शगुनों में अच्छो से ज्यादा बुरो की गिनती है , जैसे – बिल्ली का रास्ता काटना अपशगुन ,बिल्ली का रोना अपशगुन , बिल्ली का पैरो को चाठना बुरा आदि। इनमे से आज मैं आपको बताने जा रही हूँ की बिल्ली के रस्ते काटने को सब अशुभ क्यों मानते हैं। और जब बिल्ली रास्ता काट जाती हैं तो क्यों लोग या तो रास्ता बदल लेते हैं या उसी रस्ते पर थोड़ी देर रुक कर आगे बढ़ते हैं।

हम भारतीय लोग शगुन और अपशगुन को कुछ ज्यादा ही मानते हैं। खासतौर पर वो बातें जो हमें घर से निकलते वक्त या किसी काम से जाने से पहले हमारे दिमाग को ज्यादा ही प्रभावित करती हैं, जैसे किसी काम पर जाने से पहले छींकना, पीछे मुड़ कर ना देखना, किसी शुभ कार्य के लिए तीन लोगों का एक साथ ना जाना, बिल्ली का रास्ता काटना आदि। इन सारी बातों में आज हम आपको बता रहे हैं कि अगर बिल्ली हमारा रास्ता काट दे तो हम उसे अपशगुन क्यों मानते हैं, शायद इसके पीछे की वजह बहुत काम लोगों को ही पता होगी?

आज हम बता रहे इसके पीछे के काऱण-

गृह- बिल्ली राहु गृह की सवारी है और हिन्दू मान्यताओं के अनुसार राहु एक अशुभ ग्रह है, जिसका प्रभाव कभी भी अच्छा नही माना जाता। ऐसे में राहु अगर किसी की कुंडली में बैठ जाता है तो उसे अक्सर चोट लगने का डर रहता है और राहु का सताया हुआ व्यक्ति हमेशा परेशानियों से घिरा रहता है। इस कारण से ऐसा समझा गया है कि अगर बिल्ली रास्ता काट दे तो आपको सफर में चोट लगने या कुछ नुकसान होने की सम्भावना हो सकती है।

हर बार बिल्ली का रास्ता काटना नहीं होता अशुभ- गौर करने की बात है कि जब जब बिल्ली बायीं ओर से रास्ता काटते हुए दायीं ओर जाए तो वह अशुभ होता है, वरना अन्य स्थ‌ित‌ियों में बिल्ली का रास्ता काटना अशुभ नहीं माना जाता है। मान्यता है कि कुत्ते की तरह बिल्ली की छठी इंद्री काफी विकसित होती है इसलिए यह भविष्य में होने वाली घटनाओं को पहले जान लेती है।

घर में बिल्ली का रोना होता है अशुभ- मान्यता है कि आगर बिल्ली घर में आकर रोने लगे तो कोई अनहोनी घटना हो सकती है। बिल्लियों का आपस में लड़ना भी धन हानि एवं किसी से लड़ाई का संकेत समझा जाता है।

दीवाली की रात घर में बिल्ली का आगमन शुभ- माना जाता है कि दीवाली की रात घर में ब‌िल्ली का आना शुभ शगुन होता है। इससे लक्ष्मीजी घर आती हैं और सालों भर लोग धनवान बने रहते हैं’और धन का आगमन बना रहता है।

बिल्ली आकर सर चाटे तो हो सकता है अशुभ- सोये हुए हैं और बिल्ली आकर ‌स‌िर चाटने लगे तो सरकारी मामले में फंस सकते हैं। बिल्ली का पैर चाटना निकट भविष्य में बीमार होने का संकेत होता है। ब‌िल्ली ऊपर से कूद कर चली जाय तो तकलीफ सहनी पड़ती है।

About The Author

I am Brajesh Arya

Related posts